मुंह की घंटी कैसे काम करती है – how does uvula work

आप कभी ध्यान दिया होंगे तो आप पाएंगे कि आपके मुंह में घंटी होती है, हां… 1 घंटी, पिंक रंग की, लगभग 1 इंच लंबी होती है, बिल्कुल हमारे buccal कैविटी के पीछे, यहां जो हमारा टॉन्सिल है, उसके भी पीछे… लेकिन यह हमारे मुंह में होती क्यों है?? यह बनी किसी से होती है और इसका काम क्या-क्या होता है. और सबसे इंपॉर्टेंट बात इसे कहते क्या है. मुझे लगता है आप में से बहुत से लोग यह नहीं जानते होंगे, चलिए बिना समय गवाएं यह जानना शुरू करते हैं, वीडियो अच्छा लगेगा तो आप लाइक जरूर करना….

देखिए इस बॉडी पार्ट का नाम है uvula जिसे हिंदी में अलीजिह्वा या काकलक भी कहते हैं, यह एक मस्कुलर बॉडी पार्ट होता है, यानी मुख्यत ये मांसपेशियों से ही बना हुआ जोकि कनेक्टिव टिशु से बना रहता है। और इसके अंदर कई सारे ग्लैंड होते हैं, जो इन सलाइवा को सीक्रेट करते हैं, हमारे मुंह में जिससे हमारा मुंह में हमेशा moist रहता है, कभी भी सूखा सूखा नहीं रहता है।

ध्यान दीजिए बहुत ही ज्यादा ध्यान से इस इमेज को आप देखिए, आप क्या देखते हैं यहां पर आप देखते हैं कि यह हमारी nasal cavity है और यह हमारे मुंह की बकल कैविटी या ओरल कैविटी है, इन दोनों को अलग करने के लिए एक palat है जिसे hard palat कहते हैं जो कि पीछे सॉफ्ट हो जाता है, इसीलिए इसके पीछे वाले भाग को सॉफ्ट palat कहते हैं।

देखें नसल कैविटी और बक्कल कैविटी को अलग करने वाला यह palat के अंत में एक मांस का टुकड़ा होता है, जो कि पीछे की ओर लटकता रहता है, यह इमेज में जहां arrow से पॉइंट कर रहा हूं, ध्यान से देखिएगा…

जब भी हम भोजन करते हैं और भोजन को जब हम अपने मुंह से अपने पेट में अंदर की ओर  निगलते हैं, तब होता यह है कि यह uvula पीछे की ओर एक्सपेंड होकर भोजन निगलते वक्त नसल कैविटी को पूरी तरीके से ढक लेता है।

अग्नाशय कैसे काम करता हैं – how pancreas works in hindi

जिससे होता यह है कि जब भी हम भोजन को अंदर क्यों निकलते हैं, तो कभी भी भोजन हमारे नाक में नहीं जा पाता है, यह रहा इसका पहला सबसे जरूरी फंक्शन जो यह करता है…

अब बात कर लेते हैं इसके दूसरे फंक्शन की… देखें इसी uvula के अंदर बहुत सारे सलाइवा वाले ग्लैंड होते हैं, जो कि एक कनेक्टिव टिशु से जुड़े रहते हैं। होता यह है कि जब कभी हमारा ओरल कैविटी सुखा सुखा हो जाता है, तो यह uvula अपने अंदर से एक thin सलाइवा को secret करता है, जिससे हमारा मुंह कभी ड्राई नहीं रहता, वह हमेशा moist बना रहता है, और यही सलाइवा हमारे ओरल कैविटी को वायरस और बैक्टीरिया से बचाने का काम भी करता है। ये फर्स्ट लाइन डिफेंस होता हैं हमारे बक्कल कैविटी का, जब कभी इन्फेक्शन ये लड़ नही पाता तो ये फूल जाता हैं, जिसका इलाज कराना पड़ता है।

अब जान लेते हैं uvula के तीसरे फंक्शन की… यह uvula हमें बोलने और सिंगिंग करने में भी बहुत ज्यादा मदद करता है, सबसे पहले तो ये सलाइवा सीक्रेट करके हमारे throat को लुब्रिकेट करता है, जो कि स्पीचिंग में बहुत हेल्प करता है। साथ ही साथ कुछ भाषाओं में जैसे हिब्रू और अरेबिक में इस uvula से ही लोग कुछ uvular कॉन्सोनेंट को बोल पाते हैं।

और uvula का चौथा फंक्शन जो शायद कोई नहीं चाहता होगा, वह है खर्राटों की आवाज लेना देखिए। कुछ लोगों में ऐसा होता है कि जब वह सोते हैं, तो उनका uvula पीछे की ओर जाकर हमारे फैरिंक्स के दीवार से जाकर सट जाता है, जिससे होता यह है कि कुछ लोगों को सोते वक्त सांस लेने में दिक्कत होती है। जब एयर यहां से पास होती है, तो बहुत ही pressure से एयर uvula को अपने रास्ते से हटाने का प्रयास करती है। इसलिए लोगों को खर्राटे की आवाज आने लगती है। इस पर भी मैं आपको वीडियो बना कर बताऊंगा डिटेल में…
पर फिलहाल यह वीडियो आपको कैसा लगा है मुझे नीचे कमेंट करके बताइए अच्छा लगा है

Previous articleटॉन्सिल कैसे काम करता है – how does tonsil work
Next articleमुंह में लार कैसे बनता है – how saliva formed in mouth

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here