सीवीवी क्या है? – कार्ड में सीवीवी कोड कहां है?

CVV  का मतलब कार्ड सत्यापन मूल्य है, यह एक ऐसा नंबर है जो अक्सर कार्ड के पीछे लिखा होता है। ऑनलाइन लेनदेन को पूरा करने के लिए यह नंबर बहुत महत्वपूर्ण है। साथ ही इन्हें कभी भी किसी से शेयर नहीं करना चाहिए। क्या आप जानते हैं CVV क्या है (What is CVV in Hindi) और इसके बारे में जानकारी होना इतना जरूरी क्यों है? इसके बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए आपको इस पोस्ट को पूरा पढ़ना होगा CVV क्या है और मुझे उम्मीद है कि इसे पढ़कर आपको बहुत कुछ सीखने को मिलेगा।

जब भी आप किसी रिटेल स्टोर में शॉपिंग करते हैं तो आपको अपना क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड देना होता है, लेकिन क्या आप यह जानने की कोशिश करते हैं कि उस कार्ड में क्या लिखा है। जैसे सीवीवी नंबर क्या है, कार्ड की चाबी, एक्सपायरी डेट आदि। अक्सर हम इन कार्डों को आगे के भुगतान के लिए बढ़ा देते हैं। और टर्मिनल में अपने फ्रंट कार्ड स्वाइप करने से आपके भुगतान की पुष्टि हो जाती है।

जबकि जब आप इंटरनेट या फोन पर अपने क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको ट्रांजैक्शन पूरा करने के लिए इन तीन चीजों के बारे में पता होना चाहिए:

• आपका क्रेडिट/डेबिट कार्ड नंबर

• कार्ड की समाप्ति तिथि

• सीवीवी कोड, या सुरक्षा कोड

जब एक फोन एजेंट, मेल कैटलॉग कंपनी या ऑनलाइन चेकआउट के दौरान आपसे सुरक्षा कोड के बारे में पूछा जाता है, तो वे इस सीवीवी, या कार्ड सत्यापन मूल्य या कोड को ही संदर्भित करते हैं।

इसलिए आज मैंने सोचा की क्यूँ न आप लोगों को सीवीवी कोड क्या है या सीवीवी का इस्तेमाल कैसे करें की पूरी जानकारी दी जाए ताकि आपके मन में इससे संबंधित कोई शंका न हो। तो फिर बिना देर किये चलिए शुरू करते हैं.

सीवीवी क्या है?

क्या आप जानते हैं CVV का हिन्दी में क्या मतलब होता है? CVV का फुल फॉर्म Card Verification Value है। यह एक नई प्रमाणीकरण प्रक्रिया है जिसे क्रेडिट कार्ड कंपनियों द्वारा स्थापित किया गया है ताकि इंटरनेट लेनदेन के दौरान न्यूनतम धोखाधड़ी हो और उन्हें रोका जा सके।

इसके लिए कार्ड धारक को अपने कार्ड को वेरीफाई करने के लिए ट्रांजेक्शन के समय सीवीवी नंबर डालना होगा। यह सीवीवी कोड एक सुरक्षा विशेषता है जिसका उपयोग “कार्ड नॉट प्रेजेंट” लेनदेन (जैसे इंटरनेट लेनदेन) के लिए किया जाता है, और वर्तमान में लगभग सभी प्रमुख क्रेडिट और डेबिट कार्ड में उपलब्ध है।

यह नई सुविधा तीन या चार अंकों का कोड है जो कार्ड की जानकारी के लिए क्रिप्टोग्राफ़िक जांच प्रदान करता है। इसलिए यह सीवीवी कोड उस कार्ड नंबर का हिस्सा नहीं है, यह सिर्फ एक सुरक्षा जांच है।

यह सीवीवी कोड हमें वास्तविक कार्ड धारक के बारे में सही जानकारी देता है। इससे पता चलता है कि ऑर्डर देने वाला ग्राहक कार्ड का असली मालिक है और वह कार्ड खाते का सही इस्तेमाल कर रहा है।

सीवीवी कोड के लिए प्रत्येक क्रेडिट कार्ड कंपनी का अपना नाम होता है, लेकिन वे एक ही काम करते हैं, चाहे वे किसी भी बड़ी कंपनी के कार्ड हों। उदाहरण के लिए – VISA अपने कोड को CVV2 के रूप में संदर्भित करता है, जबकि MasterCard इसे CVC2 के रूप में संदर्भित करता है, और अमेरिकन एक्सप्रेस इसे CID के रूप में संदर्भित करता है।

वीज़ा/मास्टरकार्ड कार्ड के बैक पैनल में एक पूर्ण 16-अंकीय खाता संख्या होती है, जिसके बाद सीवीवी/सीवीसी कोड होता है। कुछ बैंक आपके अकाउंट नंबर के आखिरी चार अंक ही दिखाते हैं, जिसके पीछे कोड रहता है।

क्रेडिट कार्ड के गलत उपयोग को रोकने के लिए हमें 3 या 4 अंकों का कोड चाहिए जो क्रेडिट कार्ड के पीछे होता है। जब भी आप अपने क्रेडिट कार्ड या डेबिट कार्ड की जानकारी सहेजते हैं, तो आपका डेटा सिक्योर सॉकेट लेयर (एसएसएल) तकनीक से सुरक्षित रखा जाता है जो एक डिजिटल प्रमाणपत्र द्वारा प्रमाणित होता है।

कार्ड में सीवीवी कोड कहां है?

सीवीवी कोड क्या होता है ये तो आप जानते ही होंगे लेकिन लोग अक्सर यह सवाल पूछते हैं कि कार्ड में सीवीवी कोड कहां मिलता है। इसका उत्तर बहुत ही सरल है कि यह कार्ड बैक या फ्रंट पैनल में मिलता है।

यह कोड 3 या 4 अक्षरों वाला एक संख्यात्मक कोड होता है, जिसे आपके कार्ड नंबर के बाद रखा जाता है। यह बहुत सी सुरक्षा प्रदान करता है जहां हमें लेनदेन के लिए कार्ड की भौतिक रूप से आवश्यकता नहीं होती है।

सीवीवी क्या है? – कार्ड में सीवीवी कोड कहां है?
Previous articleईबुक क्या है? – ईबुक कैसे बेचें ? – Ebook in hindi
Next articleयूट्यूब का आविष्कार किसने किया? Youtube कहाँ की कंपनी है