एक्टर कैसे बने? जाने एक्टर बनने के लिए क्या करना पड़ता हैं

एक समय था जब एक्टर (Actor kaise bane) बनने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती थी और एडी चोटी का
जोर लगाना पड़ता था क्योंकि तब केवल सीरियल या मूवी में ही काम मिलता था। लेकिन आज के समय में
ओटीटी प्लेटफार्म आने के बाद इस तस्वीर को बदल कर (Actor kaise ban sakte hain) रख दिया हैं। अब इस
क्षेत्र में इतना काम हैं कि पूछों मत।


ऐसे में यदि आप भी एक्टर बनने का सपना देख रहे हैं और इसमें अपना करियर बनाना चाहते हैं तो कोई बुराई नही
लेकिन आपको जरुरत हैं एक सही दिशा की (Actor banne ke liye kya karna padta hai) ताकि आप अपना
समय व्यर्थ की चीज़ों में ना गंवाए। एक्टर बनने के लिए जिन-जिन चीज़ों की जरुरत पड़ती हैं, आज हम आपको
वही बताएँगे।

एक्टर कैसे बने (Actor kaise bane)


एक्टर बनने के लिए सबसे पहले यह देखे कि क्या आपके अंदर वह जुनून हैं जो आपको इस क्षेत्र में कामयाब
बनाएगा। दरअसल एक्टर बनने के लिए बहुत मेहनत करनी पड़ती हैं और समझौता भी। ऐसे में यदि आपके अंदर
वह जुनून नही हैं तो आप अपना इरादा बदल सकते हैं। हां अगर आपका हौसला मजबूत हैं और इरादे पक्के, तभी
आगे बढ़ें।

एक्टर बनने के लिए क्या करें (Actor banne ke liye kya karna padta hai)


अब जब आपने अपना इरादा पक्का कर लिया हैं तो चलिए जानते हैं कि एक्टर बनने के लिए क्या किया जाए।
सबसे पहले तो यदि आप स्कूल या कॉलेज में पढ़ते हैं तो वहां की एक्टिंग क्लास या रंगमंच के कार्यक्रमों से खुद को
जोड़े। आपके यहाँ जो भी नाटक या थिएटर किये जाते हैं, उसमे भाग ले।


ऐसा करने से आपको अपने अंदर के कलाकार को पहचानने और उसे निखारने में सहायता मिलेगी। इसके साथ ही
आपके साथ जो अन्य लोग एक्टिंग कर रहे हैं उनसे कुछ नया सीखने को मिलेगा। इसलिए किसी भी मौके को हाथ
से ना जाने दे क्योंकि ऐसे ही आप सीखेंगे।

किसी एक्टिंग स्कूल से जुड़े


एक्टर बनने के लिए आपको एक्टिंग करने की मूलभूत चीज़े सीखते रहना भी आवश्यक हैं। इसके लिए आप अपनी
सुविधा के अनुसार एक्टिंग स्कूल से जुड़ सकते हैं। हालाँकि यहाँ कोई डिग्री नही करवाई जाती बल्कि एक्टिंग के
ऊपर कोर्स करवाए जाते हैं। यह कोर्स अपने इंस्टिट्यूट, उसकी पहुँच, कोर्स की अवधि व फीस के अनुसार अलग-
अलग हो सकते हैं।
कुछ अच्छे एक्टिंग इंस्टिट्यूट के नाम हैं:

  • फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया, पुणे
  • नेशनल स्कूल ऑफ़ ड्रामा, नयी दिल्ली
  • एशियाई अकादमी ऑफ़ फिल्म एंड टेलीविज़न, मुंबई
  • अनुपम खेर एक्टर प्रेपरेस, मुंबई
  • व्हिसलिंग वुड्स इंटरनेशनल, मुम्बई

इनके अलावा और भी कई एक्टिंग स्कूल या इंस्टिट्यूट होंगे जिनसे आप जुड़ सकते हैं लेकिन ऊपर दिए गए
इंस्टिट्यूट भारतभर में प्रसिद्ध हैं जहाँ से आप एक्टिंग के सर्वोच्च मापदंड सीख सकते हैं।

मूवीज व सीरीज देखकर सीखें


केवल एक्टिंग इंस्टिट्यूट से जुड़ जाना या नाटक कर लेना ही काफी नही होता। यदि आप सच में एक्टर बनने को
लेकर सीरियस तो इसके लिए अपनी तैयारी को पूरा रखें। इसके लिए आप अच्छी-अच्छी मूवीज, सीरीज, सीरियल
इत्यादि को देखे। उसमे एक्टर व अन्य कलाकारों की एक्टिंग को नोटिस कीजिए जैसे कि वे डायलॉग किस तरह से
बोलते हैं या उनके हावभाव कैसे हैं इत्यादि।
साथ ही इन डायलॉग की अपने घर पर ही प्रैक्टिस करे। एक बार नही बल्कि बार-बार करें। ऐसा करने से आपको
अपने अंदर एक सुधार महसूस होगा। हर दिन आप अपने अंदर एक सुधार लेकर आएंगे तो यकीनन एक दिन
सफल एक्टर बन जाएंगे।

कॉन्टेक्ट्स बनाए

इंडस्ट्री में कदम रखने के लिए वहां कॉन्टेक्ट्स बनाना बहुत जरुरी होता हैं। इसके लिए आपको मुंबई जाना होगा
और वहां जाकर रहना होगा। वहां आपको जिस चीज़ का भी मौका मिले जैसे कि किसी पार्टी में जाना या किसी से
मिलना या कोई फंक्शन अटेंड करना इत्यादि, वहां लोगों से मिले, उनसे अच्छा रिश्ता बनाए, उनका कांटेक्ट  नंबर
ले और उन्हें अपना नंबर दे। इस तरह धीरे-धीरे ही सही अपने कॉन्टेक्ट्स को बढ़ाते जाए।

आंखों के नीचे डार्क सर्कल हटाने के उपाय
ऐसा इसलिए क्योंकि इंडस्ट्री में केवल एक्टर या डायरेक्टर ही सबकुछ नही होता। उसमे कैमरा वाले, एडिटिंग वाले,
डायलॉग वाले, एक्शन वाले, मेक अप आर्टिस्ट इत्यादि हजारों फील्ड के लोग होते हैं। ऐसे में यदि आपके कांटेक्ट
अच्छे बन जाएंगे तो वे आपको अपडेट करते रहेंगे कि इस मूवी में या सीरीज में किस रोल की जरुरत हैं और शायद
आप उस रोल के लिए परफेक्ट हो।

ऑडिशन की तैयारी पूरी रखें


एक्टर बनने और मौका पाने के लिए यह जरुरी हैं कि आप समय-समय पर ऑडिशन देते रहे और इसमें झिझके
नही। यह जरुरी नही कि आपको इसमें जल्दी ही सेलेक्ट कर लिया जाएगा क्योंकि इसमें समय लग सकता हैं। ऐसे
में लगातार रिजेक्ट होने की बजाए ऑडिशन देने का नियम बनाए रखे।


इससे होता यह हैं कि आपको अपनी कमियों को सुधारने का मौका मिलता हैं और आपके जैसे अन्य स्ट्रगल कर रहे
एक्टर से मिलने का मौका मिलता हैं। इससे आपको उनके बारे में जानने और उनके अनुभव से सीखने का भी
मौका मिलेगा जो आपके लिए ही लाभदायक रहेगा।


साथ ही आप जिस भी ऑडिशन के लिए जाए तो उसमे किस रोल के लिए ऑडिशन लिया जा रहा हैं इस बात का
ध्यान रखें और उसी के अनुसार अपनी तैयारी करके जाए। जैसे कि यदि किसी ऑडिशन में विलन के रोल के लिए
ऑडिशन लिया जा रहा हैं तो आप हीरो की एक्टिंग करेंगे तो सही नही रहेगा। ऐसे में विलन के रोल की ही तैयारी
करे और उसी के अनुसार अपना बेस्ट दे।

सोशल मीडिया पर पहचान


आजकल सोशल मीडिया भी लोगों को पहचान दिलवा देती हैं। आप देखेंगे कि कई टिकटोक स्टार्स की आज के
समय में म्यूजिक एल्बम आ चुकी हैं। इसलिए आप भी ऐसी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर अपनी मौजूदगी दर्ज
करवाए जैसे कि instagram, यूट्यूब, फेसबुक या टिकटोक इत्यादि।


इन पर आप एक निश्चित अंतराल पर अपनी एक्टिंग की वीडियोस, टिप्स, अनुभव, फोटोज इत्यादि डालते रहे
और लोगों से जुड़े रहे। जैसे-जैसे आपके फॉलोअर की संख्या बढ़ने (How to become actor in Hindi) लगेगी
वैसे-वैसे ही आपकी पहचान भी बढ़ती चली जाएगी। यह पहचान आपको एक्टर बनाने में बहुत मदद कर सकती हैं।

Previous articleजाने डॉक्टर कैसे बने के ऊपर पूरी जानकारी
Next articleऑनलाइन पैन कार्ड कैसे बनाएं? जाने ऑनलाइन पैन कार्ड बनाने का तरीका

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here