भारत का सबसे पुराना बैंक कौन सा है – oldest bank in india

भारत का सबसे पुराना बैंक – भारत में बैंकिंग का इतिहास 200 साल पुराना है. हालांकि बैंकिंग भारत में 200 साल पहले से ही शुरू हो गई थी.

लेकिन सुचारू रूप से भारत में बैंकिंग की सुविधा 200 साल पहले से ही शुरू हुई.

भारत में कुल 93 बैंक है जिनकी कुल 1,02,383 शाखाएं से भी ज्यादा संचालित हैं.

generally देखा जाए तो भारत में आधुनिक बैंकिंग की शुरुआत ब्रिटिश राज में ही हुई थी.

जब ब्रिटिश ईस्ट इंडिया कंपनी ने कुल 3 बैंक खुले थे. बैंक ऑफ बंगाल, बैंक ऑफ मुंबई और बैंक ऑफ मद्रास।

लेकिन बाद में इन तीनों बैंकों को एक साथ विलय कर दिया गया और नाम किया गया इंपीरियल बैंक का.

बाद में 1955 में इसी इंपिरियल बैंक को स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में विलय कर दिया गया था.

लेकिन प्रश्न यह है कि भारत का सबसे पुराना बैंक आखिर है कौन सा चलिए जानते हैं….

bharat ka sabse purana bank

भारत में सबसे पहला बैंक जो कि स्थापित हुआ था वह था बैंक ऑफ हिंदुस्तान जो कि 1770 में स्थापित हुआ था.

इसी के साथ ही कुछ सालों बाद जनरल बैंक ऑफ इंडिया की नीव रखी गई थी जो कि 1786 में बना था.

लेकिन यह दोनों ही बैंक सुचारू रूप से चल नहीं पाए थे इसलिए दोनों ही बैंक बंद हो गए थे.

इसलिए अगर आपको यह कहना कि भारत में सबसे पहला बैंक कौन था तो आप कह सकते है कि

1770 में बना बैंक ऑफ हिंदुस्तान भारत का सबसे पुराना बैंक है. लेकिन अभी अस्तित्व में नहीं है.

सबसे पुराना संचालित बैंक –

अगर आप यह पूछेंगे कि भारत का सबसे पुराना बैंक कौन सा है जो अभी भी संचालित है

तो इसका जवाब है कि भारत का सबसे पुराना बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया है

जोकि 1806 में बैंक ऑफ कोलकाता के रूप में शुरू हुआ था.

बाद में बैंक ऑफ मुंबई, बैंक ऑफ कोलकाता और बैंक ऑफ मद्रास यह तीनों बैंक 1921 में आपस में मर्ज हो गए

और इंपीरियल बैंक ऑफ इंडिया के रूप में बदल गए थे.

जिसे 1955 में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का नाम दे दिया गया था.

अगर आप बात करेंगे कि भारत में ऐसा कौन सा बैंक है जो सबसे पुराना है.

जिसमें कोई भी फेरबदल नहीं हुआ है. तो वह है इलाहाबाद बैंक.

जो सन 1865 में स्थापित हुआ था और यह आज भी कार्यरत है.

भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन || भारत का सबसे पुराना रेलवे स्टेशन || भारत का सबसे लम्बा रेलवे प्लेटफार्म || भारत का सबसे ऊँचा बांध

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here