जाने हमे एक दिन में कितना पानी पीना चाहिए

पानी हमारे शरीर के लिए सबसे महत्वपूर्ण और आवश्यक तत्व माना जाता (Ek din me kitna pani piye) हैं। डॉक्टर भी हमे भरपूर मात्रा में पानी पीने की सलाह देते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि पानी से हमारे शरीर को स्वस्थ रहने में सहायता मिलती हैं और शरीर से अनावश्यक तत्व (Ek din me kitna pani pina chahiye) बाहर निकल जाते हैं। ऐसे में यदि आप जरुरत से ज्यादा पानी पी लेंगे तो यह भी हानिकारक हो सकता है।
यह सुनकर चौंकिए मत क्योंकि जितना जरुरत से कम पानी पीना (Ek din me kitna pani pina chahie) स्वास्थ्य की दृष्टि से हानिकारक हैं उतना ही आवश्यकता से अधिक पीना भी। अब आपके मन में यह प्रश्न होगा कि हमे एक दिन में कितना पानी पीना चाहिए। ऐसे में आपकी इस समस्या का समाधान आज हो जाएगा क्योंकि इस लेख के माध्यम से आज हम आपको एक दिन में कितना पानी पीना चाहिए, के बारे में बताएँगे।

एक दिन में कितना पानी पिए (Ek din me kitna pani piye)


दरअसल यह किसी एक कारक पर निर्भर नही करता हैं और यह हर उम्र, लिंग, परिस्थिति, शारीरिक क्षमता इत्यादि कई कारकों पर निर्भर करता हैं। इनमे से कुछ करक हैं:

  • आपकी आयु क्या हैं अर्थात आप बच्चे हो या व्यस्क या बुजुर्ग।
  • आपका लिंग क्या हैं अर्थात आप महिला हो या पुरुष।
  • आप किस वातावरण में रहते हैं अर्थात शुष्क, ठन्डे, पहाड़ी, समुद्री, मरुस्थल इत्यादि।
  • आप क्या काम करते हैं जैसे कि शारीरिक कार्य ज्यादा हैं या मानसिक या किसी और तरह का कार्य।
  • आपका दिन ज्यादातर किस स्थिति में बीतता हैं अर्थात आप पूरे दिन एसी में रहते हैं या किसी गर्म जगह पर इत्यादि।


इस हिसाब से एक दिन में कितना पानी पीना चाहिए, यह ऊपर दिए गए कारकों पर निर्भर करता हैं। इसमें बदलाव होने पर आपके एक दिन की पानी की जरुरत में भी बदलाव होता हैं। उदाहरण के तौर पर यदि दो व्यक्ति समान आयु, लिंग व वातावरण में रहते हैं लेकिन उनमे से एक शारीरिक कार्य ज्यादा करता हैं तो दूसरा मानसिक, ऐसे में शारीरिक कार्य करने वाले को ज्यादा पानी पीने की आवश्यकता हैं क्योंकि शारीरिक श्रम के कारण उसे पसीना ज्यादा आएगा।

शरीर में कितना पानी होता है (Sharir me kitna pani hota hai)

विभिन्न तरह के शोध से यह बात सामने आई हैं कि एक व्यक्ति के शरीर में उसकी आयु के अनुसार पानी की मात्रा
विभिन्न होती हैं। इसे मुख्यतया तीन भागों में विभाजित किया जा सकता हैं।

  1. बच्चे के शरीर में पानी की मात्रा: एक शिशु या बच्चे के शरीर में पानी की मात्रा का प्रतिशत 70 से 80 प्रतिशत तक हो सकता हैं। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि यदि किसी बच्चे का वजन 10 किलोग्राम हैं तो उसके शरीर में 7 से 8 किलो का भार पानी का हैं।
  2. व्यस्क के शरीर में पानी की मात्रा: एक व्यस्क मनुष्य के शरीर में पानी की मात्रा का प्रतिशत 60 से 70 प्रतिशत तक हो सकता हैं। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि यदि किसी व्यस्क मनुष्य का वजन 100 किलोग्राम हैं तो उसके शरीर में 60 से 70 किलो का भार पानी का हैं।
  3. बुजुर्ग के शरीर में पानी की मात्रा: एक बुजुर्ग के शरीर में पानी की मात्रा का प्रतिशत 50 से 60 प्रतिशत तक हो सकता हैं। कहने का तात्पर्य यह हुआ कि यदि किसी बुजुर्ग का वजन 100 किलोग्राम हैं तो उसके शरीर में 50 से 60 किलो का भार पानी का हैं। तो आप इसी से अनुमान लगा लीजिए की चाहे हम छोटे हो या बड़े, हर उम्र में हमारे शरीर का लगभग आधे से
    ज्यादा भार पानी का होता हैं। यह भार हमारा रक्त, शरीर में पानी, अन्य तरल पदार्थों को मिलाकर होता हैं।

राजस्थान में कुल कितने जिले हैं? districts of rajsthan in hindi

एक दिन में कितना पानी पीना चाहिए (Ek din me kitna pani pina chahiye)


अब बात करते हैं मुख्य मुद्दे की कि एक दिन में कितना लीटर पानी पीना चाहिए। अमेरिका की राष्ट्रीय विज्ञान, अभियांत्रिकी व चिकित्सा अकादमी के अनुदार, एक व्यस्क पुरुष को दिन में 15 गिलास से ज्यादा पानी पीने की आवश्यकता होती हैं। इसके अनुसार एक व्यस्क पुरुष को दिन में 3.5 लीटर पाने पीने की आवश्यकता होती हैं।

साथ ही इसी शोध में एक व्यस्क महिला को एक दिन में कितना लीटर पानी पीना चाहिए, इसके बारे में भी बताया गया हैं। इसके अनुसार एक व्यस्क महिला को एक दिन में 11 गिलास पानी पीने की आवश्यकता होती हैं अर्थात एक व्यस्क महिला एक दिन में 2.5 लीटर के आसपास पानी पी सकती हैं।

यह शोध एक सामान्य महिला व पुरुष के पानी पीने की मात्रा बताता हैं। अन्यथा यह आपकी परिस्थिति, वातावरण, कार्यक्षमता इत्यादि कई मानकों पर निर्भर करता हैं। ऐसे में आप जिस जगह पर रहते हैं व जो कार्य करते हैं, उसके अनुसार ही पानी पिया करें। साथ ही आपके शरीर में पानी की कमी हैं या नही, यह आप नीचे दिए गए कारणों से पता लगा सकते हैं।

शरीर में पानी की कमी के लक्षण (Pani ki kami ke lakshan)

यदि आप आवश्यकता से कम पानी पी रहे हैं तो आपके शरीर में निम्नलिखित लक्षण हो सकते हैं। यदि आपको यह लक्षण दिखाई दे तो आपको तुरंत पानी पीने की आवश्यकता हैं।

  1. यदि आपके मूत्र का रंग हल्का पीला आ रहा हैं तो इसका अर्थ हुआ आपके शरीर में पानी की कुछ कमी हैं और आपको एक गिलास पानी पीना चाहिए। यदि यही मूत्र गहरे पीले रंग का हैं तो मतलब आपके शरीर में पानी की बहुत कमी हैं और आपको तुरंत 2 से 3 गिलास पानी पीना चाहिए। एक स्वस्थ मनुष्य जिसके शरीर में पानी की बिल्कुल भी कमी नही हैं उसे मूत्र श्वेत रंग का आएगा।
  2. यदि आपको ज्यादा भूख लग रही हैं या रह-रह कर भूख लगती हैं तो यह भी पानी की कमी का ही संकेत होगा।
  3. यदि आपकी सांसो से दुर्गंध आ रही हैं तो शरीर में पानी की कमी हो सकती हैं।
  4. यदि आपको अक्सर सिर दर्द की समस्या रहती हैं तो आपको अवश्य ही पानी की मात्रा बढ़ा देनी चाहिए।
  5. आप कुछ भी काम करे और उसमे जल्दी थकान का अनुभव हो तो मतलब आपके अंगों को पानी की आपूर्ति कम मात्रा में हो रही हैं।
    तो यह कुछ मुख्य लक्षण थे जिनसे आप पहचान सकते हैं कि आपको और पानी पीने की आवश्यकता हैं या नही। इसलिए आगे से अपने शरीर की जरुरत के अनुसार ही पानी का सेवन करे और इसे कम या ज्यादा ना करे।
Previous articleगाँव में क्या बिज़नेस करें? जानिए गाँव में चलने वाला बिज़नेस
Next articleजानिए गला खराब होने पर क्या करना चाहिए

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here