लाइट बूझाकर क्यों सोना चाहिए

रात में सोते वक़्त अधिकतर लोग लाइट बंद कर देते है. वही कई लोग को अँधेरे से डर लगता है, जिसके कारण वह रात में लाइट जलाकर सोते है, और आजकल घरो में लोग तरह तरह के लाइट्स लगाकर रखते है. टेबल लैंप,हैंगिंग लैंप,होल्डर में लगा बल्ब या इलेक्ट्रिकल गैजेट से निकलने वाली आर्टिफीसियल रौशनी रात में आपके सुखद नींद के लिए बिलकुल भी अच्छी नही है.आइये आपको बताते है की रात में लाइट बंद करके सोना जरूरी क्यों है….!

एक रिसर्च से पता चलता है की आपकी नींद आर्टिफीसियल के कारण बाधित होती है, और आप ये तो जानते होंगे की हर व्यक्ति को 7 से 9 घंटे की नींद लेना जरूरी है, पर सिर्फ सोना काफी नही है इस दौरान कम से कम आपको कुछ घंटो के लिए डीप स्लीपिंग (गहरी नींद ) की जरूरत होती है, और जब आप लाइट जलाकर सोते है तो आपका मस्तिस्क और शरीर डीप स्लीपिंग के स्थिति में नही जा पाता है.

जिससे आपके दिमाग पर जोर पड़ता है और आपको नींद से उठने के बाद थकावट महसूस होती है और साथ ही एक रिसर्च में ये भी पता चला है की आपके मस्तिस्क में एक ख़ास ग्रंथि है जिसे पीनियल ग्लैंड कहते है. और यही मेलाटोनिन हॉर्मोन रिलीज़ करता है जोकि आपके सामने मौजूद रौशनी के आधार पर बनता है, अगर आप रात में लाइट जलाकर सोते है, तो आपका शरीर मेलाटोनिन हॉर्मोन का निर्माण नही कर पाता क्युकी उसे लगता है की आप दिन में सो रहे है. जबकि लाइट जलाकर बुझाकर सोने से मस्तिस्क सही मात्रा में मेलाटोनिन हॉर्मोन का निर्माण करता करता है और आप सुकून भरी अच्छी नींद सो पाते है.

Previous articleवीर्य का निर्माण कैसे होता हैं – formation of semen in hindi
Next articleगुरुद्वारा मे सिर ढककर क्यों जाते हैं

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here