LTE और VoLTE क्या है – LTE और VoLTE में क्या अंतर हैं

LTE और VoLTE क्या है हिंदी में: नमस्कार पाठकों, आज मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि बहुत से लोगों को LTE और VoLTE क्या है और यह कैसे काम करता है, इसकी पूरी जानकारी नहीं है। सभी जानते हैं कि हम 4जी मोबाइल इंटरनेट के समय में प्रवेश कर चुके हैं।

पहले 2जी फिर अब 3जी से 4जी इंटरनेट का जमाना है। आजकल हर कोई रिलायंस जियो के फ्री वॉयस कॉलिंग और फ्री अनलिमिटेड 4जी इंटरनेट ऑफर की ज्यादा बात कर रहा है। जब से Jio ने यह सब पेश किया है, लोग एक ही सवाल पूछ रहे हैं कि उनका फोन 4G सपोर्ट करता है या नहीं, और फिर LTE और VoLTE में क्या अंतर है या LTE और VoLTE में क्या अंतर है।

जैसा कि हम सभी जानते हैं कि आज का समय इंटरनेट, 4जी और स्मार्ट फोन का है। जब आप लोगों ने नया स्मार्टफोन खरीदा है, तो आपने इसके कवर पर LTE और VoLTE का निशान जरूर देखा होगा। आपके मन में यह सवाल जरूर उठा होगा कि LTE और VoLTE क्या है और यह कैसे काम करता है। तो इन सभी शंकाओं को दूर करने के लिए आज मैंने कुछ शोध करने के बाद यह लेख लिखा है कि LTE और VoLTE क्या है और यह कैसे काम करता है।

आज मैं आप लोगों को इन दोनों की तकनीक के बारे में भी बताऊंगा और दोनों में अंतर है और इन दोनों में से कौन बेहतर है। तो देर किस बात की आइए जानते हैं LTE और VoLTE क्या है हिंदी में।

VoLTE क्या है?

LTE और VoLTE क्या है और इन दोनों में क्या अंतर है, इसके बारे में बताने से पहले मैं आपको LTE और VoLTE के बारे में कुछ जरूरी बातें बताना चाहता हूं।

उदाहरण के तौर पर हम जियो को ले सकते हैं। जब जियो को पहली बार लॉन्च किया गया था तब यह केवल एलटीई सक्षम मोबाइल सेट प्रदान कर रहा था, एलटीई सेट को अन्य मोबाइल से कनेक्ट करने या कॉल करने के लिए इंटरनेट की आवश्यकता होती है, जहां वीओएलटीई सक्षम मोबाइल सेट कॉल इंटरनेट के बिना भी किया जा सकता है।

आपको थोड़ा और आसानी से बता दूं, VoLTE में हम वॉयस कॉल करने के लिए 2G या 3G नेटवर्क का नहीं बल्कि 4G LTE नेटवर्क का इस्तेमाल करते हैं। अधिकांश लोगों की यह गलत धारणा है कि 4G का उपयोग केवल डाउनलोडिंग, वेब ब्राउज़िंग और वीडियो स्ट्रीमिंग के लिए किया जाता है, तो मैं आपको बता दूं कि हम इसका उपयोग अपनी आवाज की गुणवत्ता को बेहतर बनाने के लिए भी कर सकते हैं।

एलटीई क्या है??

कई बार लोगों के बीच LTE और VoLTE को लेकर कई बार बहस होती थी कि इनमें से कौन सा बेहतर है, इसलिए मैंने आज LTE क्या है, इसकी पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। LTE एक मोबाइल प्रौद्योगिकी मानक है। इसका फुल फॉर्म – लॉन्ग टर्म इवोल्यूशन। आपने हमेशा महसूस किया होगा कि LTE की चर्चा क्यों और क्यों होती है, जब भी हम 4G के बारे में कुछ कहते हैं, तो ऐसा इसलिए होता है क्योंकि 4G (Forth Generation) यह नाम LTE तकनीक की तारीफ करने के लिए दिया गया है। 4जी और एलटीई दोनों एक ही चीज हैं। यहां एक अहम बात 

यह है कि दूसरे मोबाइल को कनेक्ट करने या कॉल करने के लिए एलटीई सेट में इंटरनेट की जरूरत होती है। सैद्धांतिक रूप से कहें तो एलटीई की डाउनलोड क्षमता 100 एमबीआईटी प्रति सेकेंड है और अपलोड क्षमता 50 एमबीआईटी प्रति सेकेंड है।

एलटीई ने सीडीएमए और जीएसएम मानकों में एक तकनीकी क्रांति ला दी है, जिसका इस्तेमाल हम कुछ साल पहले करते थे। आजकल एलटीई नेटवर्क का इस्तेमाल हर जगह हो रहा है, इंटरनेट सर्विस प्रोवाइडर धीरे-धीरे अपने नेटवर्क को 3जी से 4जी में अपग्रेड कर रहे हैं। यह धीरे-धीरे अपने अस्तित्व का विस्तार कर रहा है।

क्या आपके स्मार्टफोन में VoLTE है?

सबसे पहले अपने फोन को स्विच ऑन करें, फिर इंटरनेट ऑन करें, उसके बाद अगर VoLTE सिंबल सिग्नल स्ट्रेंथ के करीब आता है तो इसका मतलब है कि आपका मोबाइल VoLTE इनेबल है। अन्यथा यह G, E या 2G, 3G, 4G जैसे अन्य अक्षर प्रदर्शित करेगा।

VoLTE के फायदे हिंदी में….

  1. बेहतरीन कॉल क्वालिटी – VoLTE की सबसे बड़ी उपलब्धि के बारे में सोचें तो यह इसकी बेस्ट कॉल क्वालिटी होगी। देखा जाए तो 2जी और 3जी के मुकाबले 4जी में ज्यादा डाटा ट्रांसफर हो सकता है। एक प्रयोग से पता चला है कि VoLTE में आवाज की गुणवत्ता 3G की तुलना में तीन गुना और 2G की तुलना में छह गुना बेहतर है, जो स्वर की गुणवत्ता में बड़ा अंतर ला सकती है।
  2. बेहतर कवरेज और कनेक्टिविटी – VoLTE में, 2G और 3G की तुलना में कॉल तेजी से और बेहतर तरीके से कनेक्ट होते हैं। यहां तक ​​कि जहां 4जी कवरेज नहीं है, वह अपने नेटवर्क को चालू रखने के लिए 2जी और 3जी कवरेज का उपयोग कर सकता है। इसके अलावा, इसकी आवृत्ति बड़ी इमारतों की दीवारों में भी घुस सकती है जहां 2जी और 3जी सिग्नल नहीं पहुंच सकते।

3.बेहतर बैटरी लाइफ- जिसने भी 4जी का इस्तेमाल किया है उसे पता चल ही गया होगा कि VoLTE के इस्तेमाल से उसके फोन की बैटरी लाइफ जरूर बढ़ जाएगी। ऐसा इसलिए है क्योंकि जब भी आप कॉल करते हैं या प्राप्त करते हैं, तो आपके फोन को दूसरे नेटवर्क पर स्विच करना होगा जैसे 4 जी से 2 जी या 3 जी, क्योंकि 4 जी कॉल में लगातार अन्य नेटवर्क पर स्विचिंग नहीं होती है, यहां कॉल समाप्त हो जाती है। उसके बाद यह अपने सामान्य नेटवर्क में आ जाता है। बार-बार स्विच करने और दूसरे नेटवर्क को बार-बार सर्च न करने की वजह से यूजर को यहां ज्यादा बैटरी लाइफ मिलती है।

LTE और VoLTE क्या है – LTE और VoLTE में क्या अंतर हैं
Previous articleएपीआई क्या है? – API कैसे काम करता हैं
Next articleकंप्यूटर सॉफ्टवेयर क्या है – सॉफ्टवेयर के प्रकार