पुलिस मोबाइल को ट्रेस कैसे करती हैं

जब किसी का mobile फोन खो जाता है या चोरी कर लिया जाता है, या जब कोई स्मार्टफोन के जरिये कोई crime करता है तो पुलिस उसके फोन की लोकेशन को ट्रेस करके उसे अपने हिरासत मे लेती है। यह सब हमने फिल्मों और टीवी में देखा है। आजकल के इन्टरनेट के जमाने में किसी भी डिवाइस की लोकेशन का पता लगाना कोई मुश्किल काम नहीं है। इन्टरनेट से कनेक्ट होने पर डिवाइस की लोकेशन को शेयर किया जा सकता है। यह सब स्मार्टफोन यानि की इंटरनेट वाले फ़ोन में होता है शायद आप इसकी लोकेशन को ट्रेस नहीं कर पायेंगे। यह काम सिर्फ साइबर पुलिस ही कर सकती है।

आइये जानते हैं कैसे आगे की प्रक्रिया जान लेने से पहले आपको IMEI Number के बारे में जानकारी होनी चाहिए की ये क्या होता है. IMEI की फुल फॉर्म “International Mobile Equipment Identity” होती है। मोबाइल कंपनीज के द्वारा हर मोबाइल को यूनिक IMEI Number दिया जाता है। साथ ही IMEI के द्वारा गुम या चोरी हुए फोन की लोकेशन का पता लगाया जा सकता है

IMEI Number आपके मोबाइल के बॉक्स पर लिखा होता है।  आप अपने फोन से भी *#06# कोड लगाकर अपने फोन का IMEI Number पता कर सकते हैं। पुलिस के द्वारा आपसे IMEI नंबर पूछ लेने के बाद उस IMEI Number को पुलिस सभी सिम ऑपरेटर कंपनीज के पास भेज देती है। और कंपनीज को IMEI Number पर नजर रखने के लिए कहा जाता है। 

इसके बाद पता करने के लिए की यह फोन किस जगह पर प्रयोग किया जा रहा है। इसमें पुलिस के द्वारा Triangulation Method का उपयोग किया जाता है। Triangulation Method क्या है – मोबाइल में सिम डालते ही Sim ऑपरेटिंग कंपनी को पता लग जाता है। कि मोबाइल किस टावर के नजदीक है।

इसमें अभी सिम कंपनी के द्वारा एक ही टावर से अंदाजा मिलता है। इसलिए मोबाइल की सही लोकेशन सुनिश्चित करने के लिए पुलिस Triangulation Method के तहत तीन टावर की रेंज का प्रयोग करती है। उदाहरण के लिए पुलिस के पास Mobile के नजदीकी तीन टावर की जानकारी सिम कंपनी की सहायता से मिल जाती है। इन टावर की सहायता से अगर अपराधी सबसे पहले टावर की 2 किलोमीटर व दूसरे से 3 किलोमीटर और तीसरे से 2.5 किलोमीटर एरिया से दूर है। तो पुलिस को इन तीनो टावर की मदद से सबसे नजदीकी एरिया मिल जाता है। जिसके बाद पुलिस उस एरिया मे जाकर तलाशी अभियान शुरू करती है और अपराधी को पकड़ लिया जाता है।

Previous articleसाँपो का गाँव जहां मनुष्य भी है साँपो के दोस्त
Next articleक्रूज़ कंट्रोल क्या होता है ? what is cruise controle

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here