गुप्तांगों के नीचे क्या हैं – perineum in hindi

देखिए हमारे हिप बोन का आकार कुछ इस तरीके से होता है. जहां पर हमारी रीढ़ की हड्डी खत्म होती है, वहीं से शुरुआत हो जाता हैं, हमारे पेल्विक बोन, जिसे हम अपने कूल्हे की हड्डी भी कहते हैं। इस पूरे हिस्से को पेल्विस कहा जाता है। और यह जो पेल्विक बोन होती है, असल में वह एक बहुत ही ज्यादा इंपॉर्टेंट कैविटी बनाती हैं, हमारे शरीर में जिसके अंदर हमारा यूरिनरी ब्लैडर होता है, औरतों में गर्भाशय होता है, रेक्टम होता है, और आदमियों में प्रोस्टेट वगैरह होता है।

इसलिए यह पोस्ट आपके लिए बहुत ज्यादा इंपॉर्टेंट होने वाला है, क्योंकि बहुत ही कम लोग आपको यह नॉलेज यूट्यूब पर देते हैं, और सही कहूं तो बहुत ज्यादा लोगों को आज यहां से बहुत कुछ नया जाने को मिलेगा। आखिर हमारे शिश्न या योनि के नीचे और पीछे होता क्या है।

और क्यों हमें इसके बारे में जानना चाहिए, जितना ज्यादा इंपॉर्टेंट ये है ना उतना शरीर के बाकी के हिस्सा नहीं है। जैसे हमारे शरीर में ब्रेन है जो कि बहुत ज्यादा इंपॉर्टेंट है, ठीक उसी तरह हमारे शरीर का यह हिस्सा जो आज मैं आपको बताने जा रहा हूं, वह भी बहुत ज्यादा इंपॉर्टेंट है।

pelvic cavity –

देखिए यह है हमारी हिप बोन जोकि जोड़े में होती है, यानी यह दो होती है, और उसके बीच में हमारे रीड की हड्डी का सैक्रम वाला भाग होता है, और sacrum के नीचे जैसे मैंने आपको पिछले वीडियो में बताया है कि coccyx नाम की बोन होती है। तो कुल मिलाकर यह जो हमारा पेल्विक कैविटी हैं उसमें चार bone होती है।

जिसके अंदर हमारा यूरिनरी ब्लैडर होता है, रेक्टम वगैरह और जिसके बाहर हमारा penis यानी शिश्न होता है। और औरतों की योनि मतलब vagina होती है, यह सब इसी पेल्विक कैविटी के अंदर ही होता है। इसलिए यह बहुत ज्यादा इंपॉर्टेंट भाग है।

जरा सोचिए कि यह जो चारों बोन आपस में मिलकर पेल्विक कैविटी बना रही है, वह खाली जगह जिसके अंदर हमारे ये सब ऑर्गन है, वह कभी हमारे शरीर से नीचे क्यों नहीं गिर जाते हैं। मतलब दोनों टांगों के बीच से नीचे क्यों नहीं निकल जाते हैं। ऐसा कौन सी प्रोटेक्टिंग लेयर है, इनके नीचे जो कभी भी हमारे शरीर के अंग इसके नीचे से कभी बाहर नहीं निकलते।

pelvic diaphragm –

देखिए हमारे शरीर के सबसे निचले हिस्से में यानी हमारे दोनों टांगों के बीच वाले हिस्से में इस पेल्विक कैविटी के नीचे एक मसल की लेयर होती है। जिससे पेल्विक डायाफ्राम कहते हैं, असल में यह पेल्विक डायाफ्राम 2 लेयर से मिलकर बना होता है। ऊपर वाले लेयर को leviator ani कहते हैं, जिसमें कुल 3 मसल्स होती हैं। और नीचे muscle की लेयर coccygeus muscle कहते हैं।

यह जो coccygeus muscle होता है, असल में इसी muscle के अंदर हमारे एनस और यूरेथ्रा को कंट्रोल करने के लिए spinchter रहते हैं। जिसके सहायता से हम अपने fecal मटेरियल को या फिर अपने यूरीन को होल्ड करके रख पाते हैं।

देखिए उसके बाद हमारे इसी पेल्विक डायाफ्राम के नीचे ही fascia की कुछ लेयर होती हैं, यह बहुत ज्यादा इंपॉर्टेंट होता है, क्योंकि इसके ऊपर हमारी स्किन लगी रहती है। और pelvic floor के ऊपर इन fascia के लेयर को penium कहा जाता है। और असल में हम अपने शिश्न या योनि के नीचे इसी perineum को ही पाते हैं। देखिए बहुत सारी perineum की connective tissue वाली fascia की लेयर, वह इस सेंट्रलाइज जगह पर आकर मिलती है, जिसे perineal body कहते हैं। यह हमारे anus के होल से 1.25 सेंटीमीटर आगे की ओर होता है।

और हमारे इसी प्यूबिक बोन से थोड़ी सी नीचे आने पर मेल्स का penis होता है, और females का वजाइना होता है।

देखिये मैं आपको इस वीडियो में यही बताना चाह रहा हूं कि यह जो पेल्विक डायाफ्राम और perineum है, यह हमारे बॉडी में एक बहुत ही इंपॉर्टेंट रोल प्ले करता है। लेकिन यह इंपॉर्टेंट रोल प्ले कैसे करता है।

perineum और गुप्तांग –

जो स्ट्रक्चर होता है। सबसे पहले तो यह हमारे बॉडी को नीचे से ढका रहता है। यानी नीचे से सपोर्ट करता है। जिसकी वजह से हमारे कोई भी ऑर्गन हमारे शरीर से बाहर नहीं निकल पाता हैं। दूसरा यह कि यह हमारे penis को यानी शिश्न को support करके रखा रहता है।

एक जगह पर जब penis erection पर रहता है। और females इसमें तो यह बहुत ज्यादा इंपॉर्टेंट होता है, एक बार बच्चे की डिलीवरी के बाद उनमें यह perineum और pelvic diaphragm बहुत ज्यादा कमजोर हो जाता है। इसीलिए ऐसी औरतें एक बार डिलीवरी के बाद, perineum के damage अपने यूरीन या फिकल मटेरियल के pressure को रोक पाने में दिक्कत महसूस करती है।

तो देखिए इस वीडियो में मैंने आपको क्या-क्या बताया है, मैंने बताया है कि हमारे जो pelvic cavity कैविटी है, वह चार bone से मिलकर बनी हुई है. दो hip bone, एक sacrum और एक coccyx.

और यह pelvic cavity में ही हमारा यूरिनरी ब्लैडर, प्रोस्टेट, रेक्टम और औरतों में गर्भाशय होता है। और यह सब बिल्कुल हमारे दोनों टांगों के बीच से नीचे नहीं गिर पाते हैं। क्योंकि इसी पेल्विक कैविटी के नीचे की ओर पेल्विक डायाफ्राम जिसे पेल्विक फ्लोर भी कहते हैं उसकी मसल्स की लेयर होती है।

जो इन सब को होल्ड किए हुए रहता है। और जिन लोगों में यह मजबूत रहता है, जो प्रॉपर पेल्विक फ्लोर का एक्सरसाइज करते रहते, उन्हें अपने यूरिन और fecal मटेरियल को रोकने के लिए ज्यादा pressure की जरूरत नहीं होती है। क्योंकि एक मजबूत मसल्स और इसमें लगे हुए स्पिंटर अच्छे से फंक्शन कर पाते हैं।

और इसी पेल्विक डायाफ्राम के नीचे होते हैं, fascia के कुछ layer जो कि कनेक्टिव टिशु के होते हैं, इसे perineum कहते हैं, औरतों में वजाइना से anus तक के बीच वाले भाग मैं और मर्दों में टेस्टिकल्स से anus तक के बीच वाले भाग को हम ढंग से विजुलाइज कर सकते हैं। वैसे perineum में जेनिटल से लेकर पूरे anus तक के भाग के एरिया को perineum कहते हैं।

Previous articleरीढ़ की हड्डी के अंदर क्या छुपा है – spinal cord – vertebral column
Next articleपेशाब का निर्माण कैसे होता है – urine formation

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here