उत्तर प्रदेश का सबसे गरीब जिला कौन सा है

up ka sabse garib jila – उत्तर प्रदेश भारत का सबसे बड़ा राज्य तो है ही. साथ ही साथ उत्तर प्रदेश के ऊपर भारत में सबसे पिछड़े राज्य होने का दाग भी लगा हुआ है. बिहार के बाद भारत में सबसे गरीब लोग उत्तर प्रदेश में रहते हैं. सर्वे के मुताबिक देखे तो उत्तर प्रदेश में भारत के सबसे ज्यादा गरीब लोग रहते हैं.

एक सर्वे बताता है कि उत्तर प्रदेश में कुल 98 लाख लोग गरीब हैं. जो कि भारत में सबसे ज्यादा है. हालांकि प्रतिशत के मामले में ये थोड़ा कम हो जाए. लेकिन फिर भी 98 लाख बहुत ज्यादा जनसंख्या होती है.

और उत्तर प्रदेश के बाद बिहार भारत का सबसे गरीब राज्य माना जाता है. जहां पर कुल 58 लाख से भी ज्यादा लोग गरीब हैं. 2011 12 में भारत में कुल 27 करोड़ से भी ज्यादा लोग गरीब की श्रेणी में गिने जाते थे. तो अब यह बात तो आप जान ही गए होंगे उत्तर प्रदेश को भारत में सबसे गरीब राज्यों में भी गिना जाता है.

भारत में रेशम का उत्पादन कहां होता है

खासतौर पर भारत के इस राज्य में यानी उत्तर प्रदेश के पश्चिमी और पूर्वी भाग में विकास में काफी ज्यादा अंतर है. पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोग पूर्वी उत्तर प्रदेश के तुलना में काफी अमीर हैं और पूर्वी उत्तर प्रदेश में बहुत ज्यादा पिछड़ापन देखने को मिलता है. इसीलिए आज इस आर्टिकल में हम जानेंगे कि उत्तर प्रदेश का सबसे गरीब जिला कौन सा है…

up ka sabse garib jila –

उत्तर प्रदेश का सबसे गरीब और पिछड़ा जिला श्रावस्ती है. जहां के लोग साल में केवल ₹8000 ही कमा पाते है. यह आंकड़ा थोड़ा पुराना है लेकिन 2020 में भी श्रावस्ती जिला का परफॉर्मेंस काफी अच्छा नहीं रहा है. यह जिला देवीपाटन मंडल में आता है जोकि उत्तर प्रदेश के सबसे पिछड़े मंडलों में से एक है.

भारत में सबसे ज्यादा कपास का उत्पादन करने वाला राज्य

बहराइच गोंडा बलरामपुर जैसे जिले भी इसी देवीपाटन मंडल में ही आते हैं और इस मंडल के लोग उत्तर प्रदेश के सर्वाधिक गरीब लोगों में से गिने जाते हैं. इसके साथ ही पूर्वांचल यानी पूर्वी उत्तर प्रदेश में ,उत्तर प्रदेश के सर्वाधिक पिछड़े जिलों में से 90% जिले तो अकेले पूर्वांचल से ही आते हैं.

उत्तर प्रदेश की राजधानी क्या है – up capital name

जिसमें सिद्धार्थनगर, जौनपुर, आजमगढ़ जैसे जिले भी शामिल है. केवल वाराणसी जिला ही है जो पश्चिमी उत्तर प्रदेश के लोगों को टक्कर दे सकता है, अपने आमदनी के मामले में. लेकिन वह भी एक पिछड़े जिलों में ही गिना जाता है.

भारत में काजू का उत्पादन कहां होता है

औद्योगिकीकरण की बात करें तो केवल सोनभद्र ही एक ऐसा जिला है जहां पर पूर्वांचल में थोड़े बहुत औद्योगिकीकरण है. इसके अलावा कहीं भी छोटा-मोटा उद्योग भी नहीं लगा हुआ है पूर्वांचल में.