बड़ी आंत कैसे काम करती हैं – working of large intestine

ठीक जहां पर हमारी छोटी आंत बड़ी आंत से मिलती है, वहां पर एक valve होता है, जो छोटी आंत और बड़ी आंत को अलग करता है। ये valve तब open होता है, जब small intestine से भोजन जो हम खाए रहते हैं, जिनका छोटी आंत में पाचन हो गया होता है और कुछ बचे हुए भोजन का पाचन होना होता है। उसका ट्रांसफर जब छोटी आत से बड़ी आंत में होता है, तब यह valve खुलता है।

और इसी valve से हमारी बड़ी आंत की शुरुआत होती है, जैसे ही हमारी बड़ी आंत की शुरुआत होती है, यहां पर एक उभरा हुआ सा पाउच जैसा स्ट्रक्चर आप देखते हैं, इसे हमारे बड़ी आंत का cecum कहते हैं। यही है हमारे बड़े आंत की चार भागों में से पहला पार्ट, जिसे कहते हैं cecum, यह लगभग 2 से 7 सेंटीमीटर जितना बड़ा होता है।

बड़ी आंत की संरचना

देखिए इस cecum का काम, सबसे पहले तो हमारे बड़ी आंत में food को रिसीव करना होता है। और इस food से कुछ salts विटामिन को absorb करना होता है। और mucus के साथ इस कंटेंट को मिक्स करना होता है।

उसके बाद इसी colon से शुरू हो जाता है, हमारा कोलन का part जोकि सबसे पहले यहां से शुरू होता है, यह होता है ascending colon जो नीचे से ऊपर की ओर जाता है, ascending colon की लंबाई लगभग 20 से 25 सेंटीमीटर तक होते हैं।

ठीक उसके बाद इसी right colic flexure से शुरू हो जाता है, हमारे बड़ी आत का transverse colon जो कि हमारे कोलन का दूसरा भाग होता है। यह लगभग 50 सेंटीमीटर जितना बड़ा होता है।

ठीक यहाँ से left colic flexure से हमारे कोलन का तीसरा भाग स्टार्ट होता है, जिसे कहते हैं descending colon, यह 22 से 30 cm जितना लंबा होता है।

यह s shape में है, हमारे बड़ी आंत का sigmoid colon का भाग जो कि लगभग 30 से 40 सेंटीमीटर कितना लंबा होता है। ठीक इसके नीचे से शुरु हो जाता है हमारे stool को यानि जो हमारा मल है, उसको इकट्ठा करने वाला पाउच जिसे कहते हैं रेक्टम.. भोजन पच जाने के बाद जो एक सॉलि़ड वेस्ट मटेरियल बचता है, जिसे हम एक excrete कर देते हैं, जिसे हम अपना मल कहते हैं, वह इसी rectum में आकर स्टोर होता है, यह लगभग 18 से 20 सेंटीमीटर लंबा होता है।

anal canal और बड़ी आंत

इसके नीचे हमारा anal canal आ जाता है, जिसमें दो sphinchter होते हैं, यह हैं internl anal sphinchter और यह है external anal sphichter, internal anal sphinchter इंवॉलंटरी होता है, इस पर हमारा जोर नहीं होता है। ये ऑटोनॉमिकली ही हमारे नर्वस सिस्टम से कंट्रोल होता है, और जो बाहर वाला एक्सटर्नल sphinchter है, यह हम वॉलंटरी कंट्रोल कर सकते हैं, जब हमें अपना स्टूल एक्सक्रीट करना होता है, तब हम अपनी मर्जी से अपने स्प्रिंटर को कंट्रोल कर के, stool को बाहर रिलीज कर देते हैं, लगभग 2 से 3 सेंटीमीटर लंबा होता है।

बड़ी आंत की परतें

चलिए जानते हैं कि हमारा यह बड़ी आत है यानी लार्ज इंटेस्टाइन किन किन layers से मिलकर बना हुआ होता है। देखिए हमारा लार्ज इंटेस्टाइन के सबसे बाहर की layer सिरोसा का है, जो कि हमारे पेरीटोनियम का ही भाग होता है, ये peritoneum हमारे पूरे डाइजेस्टिव ट्रैक्ट को कवर किया रहता है। उसके बाद इस लेयर के अंदर हम पाते हैं, अपने लार्ज इंटेस्टाइन के मस्कुलर लेयर को,

यह है लोंगिट्यूड मसल की लेयर और ये हैं सर्कुलर मसल की लेयर, यह दोनों क्या करते हैं यह दोनों ही हमारे बड़े आंत में  फ़ूड के part, जो पार्शियली डाइजेस्टेड नहीं रहते हैं, उन्हें push करके हमारे रेक्टम तक पहुंचाते हैं। यही मसल की layer की सहायता से,  इस movement को पेरीस्टाल्सिस मूवमेंट कहते हैं। इस लोंगिट्यूडनल मसल के बीच में ही आपको एक पतला सा बैंड जैसी संरचना दिख रही होगी, दरअसल यह जो लोंगिट्यूड मसल है यह बीच में आकर इकट्ठा होकर एक स्ट्रक्चर बनाती ,है जिसे teania coli कहते हैं।

प्रोटीन का पाचन कैसे होता हैं – protein digestion hindi

यह teania coli लार्ज इंटेस्टाइन के सरफेस एरिया को बढ़ाता है, और यही teqnia coli ही असल में टोनिकली कॉन्ट्रैक्ट होकर लार्ज इंटेस्टाइन में 1 पाउच जैसा structure बना लेता है, गोल गोल स्ट्रक्चर जैसा अभी आप अपनी स्क्रीन पर देख रहे हैं। यह गोल-गोल pouch जैसा स्ट्रक्चर haustra कहलाता है। यह haustra हमारे लार्ज इंटेस्टाइन के सर्फेस एरिया को बढ़ा देते हैं और साथ ही साथ हमारा ये जो वेस्ट मटेरियल बचता है, डाइजेशन के बाद उन्हें आपस में churn करके पूरी तरीके से फूड का पाचन करने में मदद करते हैं।

फिर देखिए इस मसल की लेयर के बाद हमारे लार्ज इंटेस्टाइन का submucosa की layer होती है, जिसमें ब्लड वेसल्स और nerves होते हैं। उसके ऊपर आ जाता है हमारे लार्ज इंटेस्टाइन का म्यूकोसा की layer, सबसे अंदर की layer, लार्ज इंटेस्टाइन की इनर लाइनिंग, स्मॉल इंटेस्टाइन की तरह इनमे villi नहीं होती है, वह फिंगर लाइक स्ट्रक्चर।

देखिए लार्ज इंटेस्टाइन के mucosa का स्ट्रक्चर कुछ इस तरीके से होता है कि यह बने हुए होते हैं simple squamuos epithelial cell से और इनके अंदर ही कुछ जो आप गड्ढे जैसी संरचना देख रहे हैं, यह crypts होते हैं, इन्हीं crypts के अंदर दो सेल होती हैं, अब्जॉर्प्टिव सेल और goblet cell, ऑब्जेक्टिव सेल फूड को absorb करने का काम करते हैं, जो न्यूट्रिएंट्स होते हैं और एक goblet cell mucuos बनाते हैं, जो बचे हुए अनडाइजेस्टेड फूड होता है, उन्हें mucus के साथ मिक्स कर देते है यह सेल्स और बचे कुचे न्यूट्रिएंट्स को भी अब जॉब कर लेता है, हमारा यह बढ़िया आंत, जाते जाते आप को यह बताते जाएं कि बड़ी आपको बड़ी आंत को बड़ी आंत किस लिए कहा जाता है, क्योंकि इसका डाया मीटर छोटी आत की तुलना में ज्यादा बड़ा होता है।

Previous articleपित्ताशय काम कैसे करता है
Next articleछोटी आंत कैसे काम करती है – working of small intestine

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here