इंडिया में एटीएम कब आया – first atm in india

आप एटीएम तो इस्तेमाल करते ही होंगे ,हां वही एटीएम जिस का फुल फॉर्म है ऑटोमेटेड टेलर मशीन. आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया का एटीएम, एचडीएफसी एटीएम, यूनियन बैंक एटीएम जैसे कई सारे बैंक के एटीएम को इस्तेमाल करते होंगे.

पर क्या आपको पता है किस देश में सबसे पहले एटीएम कब आया था. और दुनिया में एटीएम का जन्म कैसे हुआ कौन सा वह देश है जहां के नागरिक ने एटीएम मशीन को बनाया और दुनिया में एटीएम कौन से साल में आया.

अगर आपको यह सब बातें पता नहीं है ना तो बस यह आर्टिकल पढ़ लीजिएगा आपको सब कुछ बहुत ही बढ़िया से समझ में आ जाएगा…

duniya me atm kab aaya –

वह दिन था 27 जून 1967 का जब लंदन के उत्तरी भाग में दुनिया का पहला एटीएम शुरू किया गया था. जिसको बनाया था जॉन शेफर्ड बैरोन नाम के एक व्यक्ति ने. जिसके साथ उसकी पूरी इंजीनियरिंग की टीम भी थी.

दो भागों में टूट रहा है अफ्रीका

बस तब क्या था जैसे ही दुनियाभर में एटीएम मशीन का आविष्कार किया गया यह दुनिया भर में ऐसा प्रसिद्ध हुआ मानो पैसा का अगर कोई मानक बना दिया गया तो वह एटीएम ही कर दिया गया.

मुंबई का निर्माण कैसे हुआ

इंग्लैंड के इस व्यक्ति को एटीएम बनाने का आइडिया दिमाग में आया चॉकलेट वेंडिंग मशीन को देखकर। जहां हम वेंडिंग मशीन में कुछ पैसे डालकर चॉकलेट को निकाल लेते हैं, ठीक वैसे ही.

हवा कैसे बहती है ? what causes wind 

और आपको पता बता दें कि जॉन शेफर्ड बैरोन का जन्म भारत में हुआ था. जी हां 23 जून 1925 को भारत के शिलांग में जॉन शेफर्ड का जन्म हुआ और उनकी मृत्यु 2010 में स्कॉटलैंड में हो गई.

तो इस आधार पर हम कह सकते हैं कि एटीएम मशीन को बनाने वाला भारत में ही जन्मा है.

india me atm kab aaya –

अब इतना जानने के बाद हमें यह जानना है इंडिया में एटीएम कब आया क्योंकि हमारा मूल प्रश्न तो यही है तो चलिए जानते हैं. भारत में सबसे पहले एटीएम 1987 को शुरू किया गया है. जब मुंबई में एचएसबीसी बैंक ने इसे पहली बार शुरू किया.

वरुण ग्रह के कुछ रोचक तथ्य – neptune in hindi

फिर क्या था जैसे ही मुंबई में एटीएम मशीन की शुरुआत किया गया धीरे-धीरे यह दिल्ली कोलकाता चेन्नई जैसे शहरों में भी लगाया जाना शुरू कर दिया गया और आज पूरा देश एटीएम के भरोसे ही जी रहा है. जहां से हम अपने पैसे को अपने बैंक से निकाल पा रहे हैं.

दुनिया में सबसे लम्बी जीभ किस जानवर की हैं

और यह सब कमाल किया इंग्लैंड के एक व्यक्ति ने जिसको बैंक जाने में बस 1 मिनट की देरी हुई. जिसका बदला उसने एटीएम मशीन बना कर लिया और क्या आपको पता है कि उन्होंने अपने एटीएम मशीन को बनाने में 4 अंक का पिन ही क्यों रखा.

विश्व का सबसे बड़ा डेल्टा कौन सा है

इसके पीछे उनकी पत्नी का हाथ है जिन्होंने उन्हें यह सुझाव दिया कि 6 अंक का पिन कोई याद नहीं रह सकता। क्योंकि शेफर्ड तो एटीएम मशीन में 6 अंक का ही पिन रखने वाले थे. तो उम्मीद है आपको यह जानकारी पसंद आयी होगी।