भारत का सबसे बड़े चिड़ियाघर – biggest zoo in india hindi

क्या आप भारत के सबसे बड़े चिड़ियाघर (Bharat ka sabse bada chidiyaghar) के बारे में जानना चाहते हैं। दरअसल हमारे देश में सैकड़ों चिड़ियाघर है लेकिन यदि आप सोच रहे हैं कि भारत का सबसे बड़ा चिड़ियाघर दिल्ली में या मुंबई जैसे शहरों में स्थित (India biggest zoo name in Hindi) हैं तो आप बिल्कुल गलत है।

भारत का सबसे बड़ा चिड़ियाघर तमिलनाडु राज्य के चेन्नई शहर में स्थित (Bharat ka sabse bada zoo kaun sa hai) है जो कि लगभग 1490 एकड़ की भूमि में फैला हुआ विशालकाय चिड़ियाघर है। इसे वन्दलुर जू या अरीनगर अन्ना जूलॉजिकल पार्क (Arignar anna zoological park in Hindi) के नाम से जाना जाता है। आज हम आपको भारत के सबसे बड़े चिड़ियाघर वन्दलुर जू के बारे में विस्तार से बताएँगे।

भारत का सबसे बड़ा चिड़ियाघर (Bharat ka sabse bada chidiyaghar)

चेन्नई के दक्षिण-पश्चिम भाग में स्थित अरीनगर अन्ना जूलॉजिकल पार्क को भारत के सबसे बड़े चिड़ियाघर की उपाधि प्राप्त है। यह चेन्नई से लगभग 30 किलोमीटर की दूरी पर वन्दलुर नामक जगह पर स्थित है। इसका निर्माण कार्य 1855 में पूरा हो गया था और फिर 24 जुलाई 1855 को इसका उद्घाटन किया गया था।

करीब 167 साल पहले बना यह चिड़ियाघर भारत का सबसे बड़ा और सार्वजनिक चिड़ियाघर था। यह चिड़ियाघर भारतीय केंद्रीय चिड़ियाघर प्राधिकरण के द्वारा मान्यता प्राप्त भी है।

वन्दलुर जू का क्षेत्रफल (Vandalur zoo chennai area)

यदि भारत के सबसे बड़े चिड़ियाघर के क्षेत्रफल की बात की जाए तो यह कुल 602 हेक्टेयर (1490 एकड़) की भूमि पर फैला हुआ हैं। इसमें से 510 हेक्टेयर (1300 एकड़) चिड़ियाघर के लिए हैं और बाकि का एरिया विभिन्न चीज़ों के लिए हैं। 92.45 हेक्टेयर (228.4 एकड़) की भूमि (Arignar anna zoological park area) पर तो बचाव व पुनर्वास केंद्र बना हुआ हैं।

इसमें सभी पशु-पक्षियों के लिए अलग-अलग क्षेत्रफल में उनके एरिया को बांटा हुआ हैं। कहने का अर्थ यह हुआ कि यह चिड़ियाघर इतना बड़ा हैं कि इसमें शेरो के लिए एक अलग जंगल, चीता के लिए अलग जंगल तो बकरी के लिए अलग एरिया का निर्माण किया हुआ हैं ताकि वे आराम से अपनी जगह पर और खुले में विचरण कर सके।

भारत के सबसे बड़े चिड़ियाघर में कितने पशु-पक्षी हैं?

यदि इसमें उपलब्ध पशु-पक्षियों की संख्या की बात की जाए तो आप सुनकर हैरान रह जाएंगे क्योंकि इसमें 100 या 200 नही बल्कि कुल 2644 पशु-पक्षी हैं। इन पशु-पक्षियों में सभी तरह के जानवर आते हैं फिर चाहे वो जंगली हो या जहरीले, उड़ने वाले हो या तैरने वाले, नरम स्वभाव के हो या उग्र। ऐसे में इन सभी को एक साथ रखना और एक-दूसरे से बचाना भी बहुत बड़ी चुनौती होती है।

वन्दलुर चिड़ियाघर में कौन-कौन से पक्षी हैं? (Arignar anna zoological park animals list)

अभी तक आपने जाना कि इसमें 2644 पशु-पक्षी रहते हैं लेकिन इनमे कौन-कौन से जानवर आते हैं, आइए उनके बारे में भी जाने।

  • शेर
  • चीता
  • बाघ
  • सांप
  • जंगली कुत्ते
  • लंगूर
  • जैकाल
  • हिरण
  • सांभर
  • मगरमच्छ
  • जंगली गाय
  • उड़ने वाले पक्षी
  • पानी वाले जानवर
  • हाथी
  • घोड़े
  • तितलियाँ इत्यादि कई तरह के पशु-पक्षी।

अरीनगर अन्ना चिड़ियाघर में कितनी तरह की पशु-पक्षियों की प्रजातियाँ हैं?

अभी तक आपने जाना कि अरीनगर अन्ना चिड़ियाघर में हजारों पशु-पक्षी रहते हैं और वो भी अलग-अलग प्रजातियों के लेकिन हमारा यह भी जानना जरुरी हैं कि इस चिड़ियाघर में आखिरकार कितनी तरह की जानवरों की प्रजातियाँ रहती हैं। तो अगर बात अरीनगर अन्ना चिड़ियाघर में रहने वाली पशु-पक्षियों की प्रजातियों की की जाए तो यह कुल 171 हैं। इसका अर्थ यह हुआ कि यहाँ पर 171 प्रजातियों के लगभग 2644 पशु-पक्षी रहते हैं।

भारत का सबसे बड़ा रेलवे स्टेशन कौन सा हैं biggest railway station in india

कितने लोग इसे देखने आते हैं

अब अगर बात यहाँ घूमने आने वाले सैलानियों की की जाए तो यह आंकड़ा सालाना रूप से लाखों में पहुँच जाता हैं। कोरोनाकाल से पहले हुई गिनती के अनुसार भारत के सबसे बड़े चिड़ियाघर वन्दलुर जू को देखने हर वर्ष 20 लाख से ज्यादा लोग आते थे। दिन-प्रतिदिन सैलानियों का यह आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा हैं।

भारत के सबसे बड़े चिड़ियाघर की फीस (Vandalur zoo ticket price)

यदि आप भी इस चिड़ियाघर में घूमने जाने का सोच रहे हैं और आपके मन में यह शंका हैं कि यह इतना बड़ा हैं तो इसकी फीस भी बहुत ज्यादा होगी तो आप बिल्कुल गलत है। सभी भारतीय पर्यटकों के लिए भारत के सबसे बड़े चिड़ियाघर की फीस मात्र 50 रुपए हैं अर्थात आपको वन्दलुर चिड़ियाघर की टिकट खरीदने में केवल 50 रुपए खर्च करने पड़ेंगे। साथ ही बच्चों के लिए इसकी फीस तो और भी कम हैं जिसका मूल्य मात्र 20 रुपए हैं।

अरीनगर अन्ना जूलॉजिकल पार्क में सुविधाएँ

आप यहाँ घूमने जाए तो पूरा दिन निकाल कर जाए क्योंकि इसे पूरा देखने में आपको अपना एक दिन देना ही पड़ेगा अन्यथा इसके कई हिस्से आप नही देख पाएंगे। इसलिए अपने लिए पूरा दिन का समय निकाल कर ही अरीनगर अन्ना चिड़ियाघर घूमने निकले।

यहाँ आपको सफारी की सुविधा मिलेगी जिसमे बैठकर आप अंदर के जंगलों में जाकर शेर, चीता इत्यादि का करीब से आनंद उठा सकते हो। इसकी फीस अलग से लगती हैं और यह सामान्य टिकट में उपलब्ध नही होती हैं। इसलिए यदि आप सफारी की सवारी करना चाहते हैं तो इसके लिए भी टिकट पहले से ही बुक करवा ले।

इसके अलावा जब आप भारत के सबसे बड़े चिड़ियाघर को घूमेंगे तो आपको यहाँ हर पशु-पक्षी की प्रजाति के लिए अलग-अलग एरिया बंटे हुए नज़र आएंगे। जैसे कि यदि आप तितली घर में गए हो तो वहां आपको असंख्य तितलियाँ उडती हुई नज़र आएँगी जिन्हें देखकर ही आपका मन खुश हो जाएगा। इसी प्रकार सापों को एक गुफा में काँच के अंदर रखा गया हैं और काँच के उस पार आप कई तरह के सांपो को देख पाएंगे।

ठीक वैसे ही आप शेर के जंगल को देख पाएंगे। इसमें शेर को एक जंगल में एक पहाड़ी पर रखा जाता हैं और फिर एक खाई होती हैं और फिर आपके घूमने के लिए जगह। मतलब आप खाई के उस पार घूमते हुए शेर को देख पाएंगे।

तो यह कुछ खासियत हैं भारत के सबसे बड़े चिड़ियाघर (Sabse bada chidiya ghar in India) की। इसलिए अगली बार जब भी आप चेन्नई जाए तो भारत के सबसे बड़े चिड़ियाघर अरीनगर अन्ना जूलॉजिकल पार्क को घूमना ना भूले।

Previous articleदिल की आवाज कैसे होती है? – दिल धड़कने की आवाज – lubb dubb sound in hindi
Next articleअल्कोहल क्या है – what is alcohol in hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here