भारत में सबसे ज्यादा चावल उत्पादन किस राज्य में होता है

भारत में अगर उत्तर भारत और थोड़ा सा पश्चिम भारत को छोड़ दें तो भारत का ऐसा कोई भी क्षेत्र नहीं है जहां पर चावल नहीं खाया जाता है. खैर चावल तो भारत के उत्तर पश्चिम भारत में भी खाया जाता है. लेकिन जिस तरीके से लोग चावल के दीवाने पूर्वी, उत्तर पूर्वी और दक्षिण भारत के लोग हैं. वैसा भारत में और कहीं नहीं है.

पूर्वी और दक्षिण भारत में तो दिन रात हर समय केवल चावल ही खाते हैं लोग. और चावल भारत में सबसे ज्यादा उत्पादन किया जाने वाला अनाज है. बिना चावल के भारत में एक भी दिन नहीं कटता है लोगों का.

भारत में कॉफी का सबसे ज्यादा उत्पादन कहां होता है

तब ऐसे में यह जानना हमारे लिए बहुत ही ज्यादा आवश्यक हो जाता है कि जो अनाज भारत में सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है. जहां पर सबसे ज्यादा लोग चावल का उपभोग करते हैं. आखिर वह चावल भारत के किस राज्य में सबसे ज्यादा उत्पादन किया जाता है. चलिए जानते हैं….

भारत में सबसे ज्यादा चावल उत्पादन वाला राज्य –

भारत में सबसे बड़ा चावल का उत्पादन करने वाला राज्य पश्चिम बंगाल है. जो भारत में कुल चावल के उत्पादन का 14% हिस्सा रखता है. कुल 14,677 हजार टन चावल के उत्पादन के साथ बंगाल भारत में पहले नंबर पर है और 2020 में तो यह उत्पादन और भी बढ़ चुका है. मिदनापुर, वर्धमान, बंका वीरभूमि जैसे जिलों में सबसे ज्यादा चावल का उत्पादन होता है.

इंडिया का सबसे बड़ा स्टेडियम

कुल 12,167 हजार टन के चावल उत्पादन के साथ उत्तर प्रदेश भारत में दूसरा सबसे बड़ा चावल उत्पादक राज्य है. यूपी भारत में चावल उत्पादन का 10% हिस्सा अपने पास रखता है. बरेली, गोरखपुर, फैजाबाद, आजमगढ़, जौनपुर, मुजफ्फरनगर, बाराबंकी जैसे जिला प्रमुख उत्पादक जिले हैं.

बिहार में सबसे बड़ा पुल कौन है

11,000 हजार टन से भी ज्यादा चावल उत्पादन के साथ पंजाब भारत में तीसरे नंबर पर सबसे बड़ा चावल उत्पादक राज्य हैं. हालांकि गेहूं का उत्पादन भी पंजाब में बहुत ज्यादा होता है और पंजाब भारत में सबसे बड़ा कृषि करने वाला राज्य में है.

बिहार में सबसे बड़ा पुल कौन है

उड़ीसा, छत्तीसगढ़, बिहार जैसे राज्य भारत में इसके बाद सबसे बड़े चावल उत्पादन करने वाले राज्य हैं. बिहार में 6,400 हजार टन चावल हर साल होता है. वही उड़ीसा में 8,300 हजार टन चावल हर साल उगाया जाता है.