अल्कोहल क्या है – what is alcohol in hindi

अल्कोहल (Alcohol kya hai) का नाम सभी ने सुना होता हैं और जब भी इसका नाम आता हैं तो व्यक्ति पार्टी करने के मूड में चला जाता हैं। आजकल की सोशल लाइफ में अल्कोहल की महत्ता और प्रसिद्धि भी बहुत तेजी के साथ बढ़ी (Alcohol in Hindi) हैं। अब चाहे किसी पार्टी में जाना हो या किसी को पार्टी देनी हो, उसमे अल्कोहल ना हो तो उस पार्टी में रंग ही नही जमता।

दरअसल हम अल्कोहल (Alcohol kya hota hai) को हमेशा एन्जॉय करने या पार्टी करने के नाम पर ही ले लेते हैं लेकिन यह अल्कोहल है क्या, इसके बारे में जानने का प्रयास बहुत कम ही करते हैं। ऐसे में आज हम आपको अल्कोहल क्या है, के बारे में विस्तार से बताएँगे।

अल्कोहल क्या है (Alcohol kya hai)

अल्कोहल एक तरह का कार्बनिक पदार्थ होता है जो हमारे शरीर को अंदरूनी व बाहरी दोनों तौर पर आराम दिलाने व विभिन्न तरह के जीवाणु व कीटाणु के संक्रमण से बचाने का कार्य करता है। साथ ही यह मस्तिष्क की नसों को धीमा कर हमारे शरीर को शिथिल भी बना देता है और नींद को बढ़ावा देता है।

अल्कोहल का रासायनिक नाम एथेनोल या एथिल एल्कोहल होता है। यह मुख्य रूप से हाईड्रोजन परमाणुओं के यौगिक समूहों से निर्मित होता है। इसमें एक से अधिक हाईड्रोलिक्स समूह में रहते हैं जो अल्कोहल का निर्माण करते है। इसमें ऑक्सीजन की आवश्यकता नही पड़ती हैं। इसलिए इसका ज्यादा सेवन शरीर के लिए हानिकारक हो सकता हैं।

Alcohol kya hai

अल्कोहल बनाने की विधि (Alcohol ka formula)

यह एक तरह से जैव रासायनिक क्रिया पर आधारित होता है जिसमे कई तरह के OH समूहों का विस्थापन कर अल्कोहल का निर्माण किया जाता है। यह कार्बनिक यौगिक सूक्ष्म संजीवों की सहायता से सरल कार्बनिक यौगिक में टूट जाते हैं और अल्कोहल का निर्माण करते है। इसके निर्माण में इस बात का ध्यान रखा जाता हैं कि कार्बन में किसी तरह से भी बेंजीन का समूह नही होना चाहिए अन्यथा यही अल्कोहल शरीर के लिए घातक हो जाता है।

हम कई बार देसी अल्कोहल के सेवन से लोगों के मरने के समाचार पढ़ते होंगे तो वह मुख्यतया अल्कोहल में बेंजीन के मिश्रण और क्रिया के कारण ही होता है। जिसका सेवन किसी जहर के सेवन करने जैसा ही माना जाता है।

अल्कोहल का इस्तेमाल व फायदें (Alcohol ke fayde)

अब बात करते हैं कि अल्कोहल किस-किस चीज़ में इस्तेमाल किया जा सकता हैं। अक्सर हमने अल्कोहल को दारू पीने या एन्जॉय करने के नाम में ही सुना हैं लेकिन इसके अलावा भी अल्कोहल का इस्तेमाल बहुत सी चीज़ों में किया जा सकता हैं। आइए सभी के बारे में जाने।

1. दारू पीने में अल्कोहल

सबसे पहले बात कर ली जाए दारू में पाए जाने वाले अल्कोहल की। यह सभी तरह की हार्ड ड्रिंक्स में कुछ ना कुछ मात्रा में पाया ही जाता हैं। जैसे कि व्हिस्की में यह 42 प्रतिशत तक होता है तो बियर में इसकी मात्रा 8 से 12 प्रतिशत तक होती हैं। तो इस तरह अल्कोहल दारू के सभी प्रकार बियर, व्हिस्की, रम, वोडका, वाइन, स्कॉच इत्यादि में मिलाया जाता है। इसका सेवन मनुष्य आनंद पाने और शरीर को रिलैक्स करने के लिए करता हैं।

अदरक के फायदे – Adrak ke fayde in hindi

2. दवाइयों में

जी हां, हैरान मत होइए, आप सोचते होंगे कि आप दारू बियर तो पीते नही तो आपने कभी अल्कोहल का सेवन भी नही किया होगा तो आप बिल्कुल गलत है। हम में से ज्यादातर लोग दवाई के रूप में किसी ना किसी तरह अल्कोहल का कुछ अंश का सेवन कर ही चुके हैं। उदाहरण के तौर पर आप खांसी की दवाई ही ले लीजिए। इसमें खांसी को ठीक करने के लिए जो लिक्विड दवाई की बोतल आती हैं उसमे अल्कोहल की कुछ मात्रा मिलाई जाती हैं ताकि आपकी खांसी भी ठीक हो जाए और नींद भी अच्छे से आये।

इस तरह जुकाम, बलगम इत्यादि कई तरह की बिमारियों की दवाई में अल्कोहल की मात्रा मिलाई जाती हैं। इसलिए कुछ लोग खांसी, जुकाम होने पर गर्म पानी में रम का सीधे सेवन करते है।

3. चोट लगने पर

जब हमें किसी जगह पर चोट लग जाती हैं और वहां से खून इत्यादि निकल रहा हो तो वहां हम डेटोल लगाते है लेकिन आपको जानकर आश्चर्य होगा कि इस डेटोल में भी अल्कोहल मिला होता है। इसलिए यदि आपके घर पर व्हिस्की इत्यादि की बोतल पड़ी है तो आप चोट लगने पर सीधे अल्कोहल भी लगा सकते हैं। प्राचीन समय में युद्ध होने पर घावों पर अल्कोहल ही लगाया जाता था। इसके प्रभाव से दर्द भी कम हो जाता है।

4. मेडिकल उपकरणों की साफ-सफाई में

डॉक्टर जिन मेडिकल उपकरणों से हमारा ऑपरेशन करते हैं या हमे चेक करते हैं तो उनकी सफाई भी अल्कोहल से ही की जाती हैं। इसके प्रभाव से उस जगह के सभी जीवाणु-कीटाणु नष्ट हो जाते हैं। इसी तरह घर साफ करने या टेबल की सफाई के लिए जो लिक्विड की शीशी आती हैं उसमे भी अल्कोहल मिला होता हैं।

5. हैंड सैनिटाइजर

कोरोना के बाद से तो हैंड सैनिटाइजर का नाम हर किसी ने सुन लिया होगा और आज के दौर में यह हम सभी के घर, बैग में रहता भी होगा और हम में से कई लोग आज भी इसका प्रतिदिन उपयोग करते होंगे। अब हम आपको कहे कि इस सैनिटाइजर का निर्माण बिना अल्कोहल के हो ही नही सकता अर्थात बिना अल्कोहल के इस सैनिटाइजर का कोई फायदा नही तो आपको कैसा लगेगा? हर सैनिटाइजर की शीशी या बोतल में अल्कोहल का होना अनिवार्य होता है तभी वह सैनिटाइजर कहलाता है।

अल्कोहल के दुष्प्रभाव (Alcohol ke nuksan)

अभी तक हमने अल्कोहल के फायदे ही फायदे जाने लेकिन इसके ज्यादा इस्तेमाल से या सेवन करने से कई तरह के दुष्प्रभाव भी हो सकते हैं। आइए उनके बारे में भी जान लेते हैं।

  • यदि व्यक्ति इसका प्रतिदिन सेवन करता हैं तो उसकी याददाश्त कमजोर हो जाती हैं और उसे चीज़े याद करने में असुविधा का सामना करना पड़ सकता है। ऐसे में ज्यादा अल्कोहल का सेवन आपको दिमागी रूप से कमजोर बना देता है।
  • जितना यह हमारे दिमाग को कमजोर बनाता है उतना ही यह हमे तनाव की ओर धकेलता है। ज्यादातर लोग यह समझते हैं कि अल्कोहल पीने से तनाव दूर होता है जबकि असलियत में होता इसके विपरीत है। इसका सेवन लोगों को डिप्रेशन की ओर ले जाता है।
  • कई घरों में आर्थिक तंगी व पैसों की बचत नही हो पाना भी यही अल्कोहल है। चाहे हम महीने में एक बार या सप्ताह में कुछ दिन के लिए पीते हो लेकिन अपने साथ यह बहुत सा पैसा भी उड़ा ले जाता है और उसका कुछ फायदा भी नही मिल पाता है।
  • अल्कोहल का ज्यादा सेवन करने से शरीर में गैस बढ़ जाती हैं जिस कारण पेट की कई समस्याएं हो सकती हैं।
  • यह व्यक्ति के बोलने की क्षमता को भी प्रभावित करता है और हम शब्दों का सही से इस्तेमाल नही कर पाते हैं।
Previous articleभारत का सबसे बड़े चिड़ियाघर – biggest zoo in india hindi
Next articleमाइग्रेन क्या है – what is migraine in hindi

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here