जाने क्या होता है नदीद्वीप – River island in hindi

नदीद्वीप – किसी आईलैंड या द्वीप का नाम सुनकर आपके मन में यही ख्याल आता होगा कि द्वीप केवल समुद्र में ही होता होगा.

जिन लोगों को यह बात पता नहीं होगा कि नदियों पर भी द्वीप होते हैं उन लोगों के लिए यह बहुत ही बड़ा आश्चर्य होगा

और नदियों पर यह द्वीप कोई छोटे-मोटे जनसंख्या के साथ नहीं होते हैं बल्कि इन पर हजारों लोग निवास करते हैं.

आज किस आर्टिकल में आप यही जानोगे कि नदी द्वीप होता क्या है

और भारत और विश्व के कुछ प्रसिद्ध नदी द्वीपों के बारे में भी इस आर्टिकल में चर्चा की जाएगी.

क्या आसमानी बिजली को स्टोर किया जा सकता हैं

भारत के प्रसिद्ध नदीद्वीप

नदी द्वीप किसी नदी के बीचों-बीच उभरा एक भूमि खंड है जो नदी द्वारा बहाकर लाई आए हुए मिट्टी और रेत द्वारा बना हुआ होता है.

यह मिट्टी और रेत नदियां अपने किनारों का क्षरण कर अपने साथ ले आते हैं.

क्षरण द्वारा नदी का जलस्तर कम हो जाता है और इसी तरह एक नया भूखंड नदी के बीचों-बीच उभर कर आ जाता है.

एक नदी द्वीप एक पत्थर जितना बड़ा भी हो सकता है और सैकड़ों किलोमीटर स्कवायर के क्षेत्र में फैला हुआ भी हो सकता है.

अब हम चलते हैं असम जहां पर जोरहट जिले के पास में ब्रह्मपुत्र नदी पर है दुनिया का सबसे बड़ा नदी द्वीप माजुली स्थित हैं.

लेकिन यह नदी द्वीप क्षेत्रफल के आधार पर दुनिया का सबसे बड़ा नदी द्वीप नहीं

बल्कि जनसंख्या के आधार पर यह दुनिया का सबसे बड़ा नदी द्वीप है.

बल्कि जनसंख्या के आधार पर यह दुनिया का सबसे बड़ा नदी द्वीप है.

1853 में 1246 किलो मीटर स्क्वायर के क्षेत्र में फैला हुआ यह नदी द्वीप.

हर साल ब्रह्मपुत्र नदी में आ रहे बाढ़ और भू कटाव की वजह से अब सिमट रहा है.

1,50,000 की जनसंख्या के साथ यह दुनिया में किसी भी नदी द्वीप पर बसा हुआ इतनी जनसंख्या वाला सबसे बड़ा नदी द्वीप है

इसे हाल ही में दुनिया का पहला नदी द्वीप जिला घोषित किया गया

माजुली नदी द्वीप की प्राकृतिकता और सुंदरता लोगों को हमेशा अपनी और आकर्षित करता ही रहता है.

इसीलिए यह असम का एक प्रमुख पर्यटन केंद्र भी है.

भारत में हैं कई सारे नदीद्वीप –

असम के बाद अब चलते हैं तमिलनाडु जहां हैं

तिरुचिरापल्ली में कावेरी और कोल्लीडम नदी द्वारा बनाई हुई नदी द्वीप श्रीरंगम 21 किलोमीटर लंबा

और 2.4 मीटर चौड़ा इस नदी द्वीप के पश्चिम में अपर अनाईकट का डैम और ग्रैंड नाईक का डैम.

जिसे कल्लानई डैम के नाम से भी जाना जाता है. इसके पूर्व में मौजूद है

कल्लानई डैम तमिलनाडु का अत्यंत ही प्राचीन डैम है जिसे चोल राजाओं ने दूसरी शताब्दी में बनवाया था.

यूनेस्को वर्ल्ड हेरीटेज और भारत की प्रसिद्ध श्री रंगनाथ  मंदिर भी यहीं पर मौजूद है. श्रीरंगम की जनसंख्या 10,743 है.

कर्नाटक के मैसूर से 15 किलोमीटर दूर श्रीरंगपट्टनम भी कावेरी नदी पर मौजूद एक नदी द्वीप है

जो कि भारत के प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों में से एक है.

मात्र 13 किलो मीटर स्क्वायर के क्षेत्र में फैला हुआ यह नदी द्वीप अपने रंगनाथ मंदिर के लिए तो

प्रसिद्ध है ही साथ ही साथ यहां पर दोहरे दीवार वाला भारत का सबसे मजबूत किला भी मौजूद है.

बाहर से अंदर की ओर प्रवेश करने के लिए जो पुल बांधा गया है वह आज ही प्रयोग में है.

श्रीरंगपट्टनम नदी द्वीप पर 25,061 लोग रहते हैं. श्रीरंगपट्टनम कर्नाटक के मांड्या जिले में स्थित है.

बात अभी खत्म नहीं हुई है मांड्या जिले में ही शिवाना समुद्र भी कावेरी नदी पर एक नदी द्वीप है.

भारत के 2 प्रसिद्ध झरने बराचुक्की और गगनचुक्की स्थित है.

आंध्र प्रदेश के विजयवाड़ा जिले में कृष्णा नदी पर मौजूद भवानी आईलैंड फी 133 एकड़ में फैला हुआ एक नदी द्वीप है.

और भारत के कुछ सबसे बड़े नदी द्वीप में गिना जाता है.

यहां पर स्थित कनक दुर्गा मंदिर जिसे भवानी के नाम से भी जाना जाता है के नाम पर इस द्वीप का नाम भवानी आईलैंड रखा गया.

असम के जिले तिनसुखिया में भी dibru-saikhowa एक नदी द्वीप है.

विश्व के कुछ प्रसिद्ध नदी द्वीप

अगर हम विश्व में मौजूद कुछ प्रसिद्ध हैं और महत्वपूर्ण नदीद्वीप की बात करें,

तो ब्राजील का बनानाल विश्व का सबसे बड़ा नदी द्वीप है जो 19,000 किलोमीटर क्षेत्र में फैला हुआ है.

मिस्र की नाइल डेल्टा  जोकि  नील के सहायक नदी पर मौजूद है 8,664 किलो मीटर स्क्वायर क्षेत्र में फैला हुआ है.

बांग्लादेश में मेघना नदी पर स्थित भोला आईलैंड 1,441 किलो मीटर स्क्वायर का बड़ा नदी द्वीप है.

हालांकि यह समुद्र के किनारे हैं .इसी तरह मेघना नदी पर हटिया द्वीप 15 किलो मीटर स्क्वायर जितना बड़ा है..

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here