भारत में कितनी नदिया हैं – river in india information in hindi

भारत में कितनी नदिया हैं (bharat me kitne nadiya hai) – भारत नदियों का देश है. क्योंकि भारत में नदियां ही नदियां हैं और भारत मेंं नदियों को पूजा जाता है.

उत्तर से लेकर दक्षिण तक नदियां भारत में पूजनीय है. चाहे कहीं भी चले जाइए भारत मेंं तो नदियों को देवी माना जाता है.

वह बात दूसरी है कि भारत में नदियोंं को इतना पूजने के बाद भी भारत में नदियां गंदगी का एक अंबार मात्र बनी हुई है.

अगर हम भारत में नदियों की संख्या गिनते जाएंगे तो हम गिनते ही रह जाएंगे।

क्योंकि भारत में कई सारी छोटी-बड़ी बरसाती नदियां भी हैं जो केवल बरसाात में बहती हैं.

हिंदुस्तान में कुछ ही प्रमुख नदियां हैं और इन्हींं प्रमुख नदियों में से छोटी बड़ी नदियाां आकर मिल जाती हैं.

भारत में नदी प्रणाली –

india में नदियां मुख्यतः इन चार प्रणालियों के कारण ही बहती हैं जो कि पर्वतों से निकलती है.

अगर यह पर्वत ना होते तो आज भारत नदियों से विहीन होता है और भारत कभी भी एक हरा-भरा देश नहीं हो पाता।

एक बार जान लेते हैं वह पर्वत जो भारत में नदियों का प्रणाली बनाते हैं.

ये चार पर्वत नदी प्रणाली है…

  • हिमालय और काराकोरम नदी प्रणाली
  • सह्याद्रि या पश्चिमी घाट नदी प्रणाली
  • अरावली नदी प्रणाली
  • विंध्य-सतपुड़ा नदी प्रणाली

सबसे पहले आपको यह जाना जरूरी है कि भारत में मुख्यतः 10 नदियां ही मुख्य है.

इन्हीं 10 मुख्य नदियों में भारत की सहायक नदियां के मिल जाती हैं.

इसी लिए कहा यह जा सकता है कि यही हैं वह मुख्य नदियां बाकी सब तो इन्हीं में आकर मिली जाते हैं.

एक बार इन नदियों की लिस्ट को देख लेते हैं…

  • गंगा
  • यमुना
  • सिंधु
  • ब्रह्मपुत्र
  • नर्मदा
  • गोदावरी
  • ताप्ती
  • कृष्णा
  • कावेरी
  • महानदी

भारत में कितनी नदिया हैं –

गंगा की सहायक नदियां है सोन, गोमती, रामगंगा, तमसा, कोसी, गंडक, घाघरा।

यमुना की सहायक नदियां है हिंडन, टोंस, गिरी, ऋषिगंगा, हनुमान गंगा, चंबल, बेतवा, केन, बघेन

ब्रह्मपुत्र की सहायक नदियां है तीश्ता, लोहित, डनबा कु, सुबनसिरि, कामेंग, धनसिरि, मनास।

सिंधु की सहायक नदियां है सतलुज, ब्यास, रावी, चेनाब, झेलम खुर्रम , तोचि, गोमइ, वीबो और संगर

गोदावरी की सहायक नदियां है दुदना, प्राणहिता, इंद्रावती, सवरी, पेंगंगा, मंजीरा, मनेयर।

कृष्णा की सहायक नदियां है तुंगभद्रा, मूसी, अमरावती, भीमा, कोयना और पंचगंगा।

कावेरी की सहायक नदियां है हारांगी, हेमावती, शिम्शा, नोयिल, अमरावती, लक्ष्मणतीर्थ, भवानी, काबिनी।

महानदी की सहायक नदियां है पैरी, सोंढुर, शिवनाथ, हसदेव, अरपा, जोंक, तेल

ताप्ती की सहायक नदियां है पूर्णा, तवा, अंभोरा कालिया, खेड़ी नदी, बोकड़या नदी, घोघरा नदी, ऊद नदी, कोपाटी नदी, पाट नदी, भाल नदी, पिपला नदी, मच्छी नदी, बैतूल नदी,

नर्मदा की सहायक नदियां है बरनार, बंजर, शेर, शक्कर, दूधी, तवा, गंजाल, छोटी तवा, कुन्दी, देव, गोई, हिरन, तिन्दोली, बरना, चन्द्रकेशर, कानर, मान, ऊटी, हथनी

भारत का सबसे पुराना बैंक कौन सा है – oldest bank in india || भारत में कितने राज्य हैं

भारत का सबसे बड़ा बैंक कौन सा हैं || भारत में कितने जिले हैं || भारत का सबसे पुराना मॉल कौन सा हैं