प्रेगनेंसी में नींद ना आने के कारण एवं उपाय

गर्भावस्था में हर महिला अपने शरीर में कई तरह के बदलावों का सामना कर रही (Pregnancy me neend na aane ke karan) होती हैं। कुछ के लिए बहुत मुश्किल स्थिति होती हैं तो कुछ की तो पूरी दिनचर्या ही बदल जाती (Pregnancy me neend aane ke upay) हैं। ऐसे में प्रेगनेंसी में नींद नही आने की समस्या बहुत सी गर्भवती महिलाओं में पायी जाती हैं। यदि सही से नींद नही आये तो अगला दिन भी ख़राब ही जाता हैं।

ऐसे में यदि आप भी प्रेगनेंसी में नींद नही आने की समस्या से परेशान (Pregnancy me neend kam aana) हैं तो आज हम आपको इसके कुछ मुख्य कारणों के बारे में बताएँगे। साथ ही प्रेगनेंसी में नींद नही आने के उपाय बताएँगे ताकि आप चैन की नींद सो सके। आइए जाने प्रेगनेंसी में नींद ना आने के कारण और इसके उपायों के बारे में विस्तार से।

प्रेगनेंसी में नींद ना आने के कारण (Pregnancy me neend na aane ke karan)

कुछ महिलाओं को प्रेगनेंसी के समय ज्यादा नींद आती हैं तो ज्यादातर में यह कम हो जाती हैं। ऐसा होने के कई कारण हो सकते हैं जिनमे से कुछ मुख्य कारण इस प्रकार हैं:

1. शिशु का हिलना-डुलना

जैसे-जैसे बच्चा पेट में बड़ा होता जाता हैं या यूँ कहे कि महीने दर महीने जैसे-जैसे उसका आकार बढ़ता हैं वैसे-वैसे ही पेट में उनकी हलचल बढ़ जाती हैं। अब यह हलचल दिन में किसी भी समय, कितनी भी बार और कितने भी समय के लिए हो सकती हैं। ऐसे में बच्चा यदि माँ के सोने के बाद या सोते समय हलचल करने लगता हैं तो ऐसे में नींद आना बहुत मुश्किल हो जाता हैं। शिशु की हलचल में सोना माँ के लिए भी बहुत बैचैन कर देने वाला होता हैं।

2. कमर दर्द का होना

प्रेगनेंसी में शिशु के पेट में होने के कारण महिला के लिए गुरुत्वाकर्षण का केंद्र बदल जाता हैं। इस कारण महिलाओं को प्रेगनेंसी के दौरान कमर दर्द की शिकायत रहती हैं। अब प्रेगनेंसी के समय वे कमर पर ज्यादा दबाव भी नही डाल सकती हैं और यह दर्द पूरी प्रेगनेंसी कम या ज्यादा रहता ही हैं। ऐसे में कमर दर्द में नींद लेना मुश्किल भरा हो जाता हैं।

3. बेचैनी होना

शारीरिक तौर पर तो एक महिला गर्भावस्था के दौरान कई तरह के बदलावों का सामना करती हैं लेकिन मानसिक रूप से भी यह समस्या कोई कम नही होती हैं। इस दौरान महिला के दिमाग में कई तरह के ख्याल, चिंताएं व शंकाएं घेरे रखती हैं। मूड स्विंग इसे ही कहा जाता हैं जिसमे वो एक पल के लिए खुश हो जाती हैं तो दूसरे ही पल मन बेचैन हो उठता हैं। मन में बेचैनी भी नींद कम आने या नही आने का एक मुख्य कारण हैं।

प्रेगनेंसी में नींद नही आने के उपाय (Pregnancy me neend aane ke upay)

अब जब हमने आपको प्रेगनेंसी में नींद नही आने के 3 मुख्य कारणों के बारे में बता दिया हैं तो आपके मन में इसके कुछ उपाय जानने की जिज्ञासा भी होगी। जब भी कोई समस्या होती हैं तो उसके कुछ उपाय भी होते हैं। इसलिए आइए जाने प्रेगनेंसी में नींद आने के लिए क्या किया जा सकता हैं।

शरीर व कमर की मालिश

प्रेगनेंसी में कमर दर्द होने पर आप उस पर ज्यादा दबाव तो नही डाल सकती हैं लेकिन किसी से कमर पर हलके हाथ की मालिश जरुर करवा सकती हैं। यह मालिश तेल से की जा सकती हैं लेकिन केवल हलके हाथों से ही। सोने से पहले यदि शरीर की व कमर की हलके हाथ से मालिश कर दी जाए तो यह अच्छी नींद आने में सहायक सिद्ध होगा।

चाय कॉफ़ी ना ले

यदि आपको सोने से पहले या रात में चाय या कॉफ़ी जैसी कैफीन युक्त चीज़े पीने की आदत हैं तो आज से ही इसे बदल दे। दरअसल जिन चीज़ों में कैफीन पाया जाता हैं वह आपके नींद के सेल्स को कम कर देता हैं जिस कारण आपकी नींद उड़ जाती हैं या देर से आती हैं। इसलिए इस बात का ध्यान रखे कि सोने से कम से कम 2 घंटे पहले तक ऐसी चीज़ों का सेवन ना करे।

ध्यान लगाए

यदि मन में बेचैनी की समस्या हैं या चिंता घेरे रहती हैं तो सोने से 15 से 20 मिनट पहले ध्यान मुद्रा में चले जाए। इसके लिए एक शांत कमरे में बैठ जाए और आँखें बंद कर ले। शरीर को ढीला छोड़ दे और बाहरी चीज़ों पर ध्यान देने की बजाए अपने मन पर ध्यान दे। ध्यान भ्रमित ना हो, इसके लिए हल्का बिना शब्दों वाला संगीत सुना जा सकता हैं। ऐसी ही मुद्रा में 15 मिनट तक बैठे रहे और फिर सो जाए। ऐसा करने से आपको एक अच्छी नींद तो आएगी ही बल्कि अगले दिन भी तरोताजा महसूस होगा।

सैर पर जाए

हर गर्भवती महिला को गर्भावस्था के दौरान दिन में कम से कम आधे घंटे पैदल चलने की सलाह दी जाती हैं। ऐसा करना माँ और बच्चे दोनों के लिए अत्यंत लाभप्रद रहता हैं और महिला को गर्भावस्था के दौरान कम समस्याओं को झेलना पड़ता हैं। इसलिए यदि आप दिन में इतना नही चलती हैं तो आज से ही इसे अपना नियम बना ले और कम से कम आधे घंटे की सैर अवश्य करें।

गुनगुने पानी से नहाये

यदि नींद नही आने की समस्या अभी भी बनी हुई हैं तो आप एक काम और कर सकती हैं। इसके लिए हल्का गुनगुने पानी से बाल्टी भरे और उसमे से नहा ले। यह आपके शरीर को आराम की मुद्रा में ले जाएगा और नींद अच्छी आएगी।

तो यह थे प्रेगनेंसी में नींद नही आने के कुछ मुख्य कारण और उसके लिए (Garbhavastha me neend na aana) उपाय। आगे से आपको भी ऐसी कोई समस्या हो तो आप ऊपर दिए गए उपायों को करके प्रेगनेंसी में भी एक अच्छी और चैन भरी नींद ले सकती हैं।

Previous articleप्रेगनेंसी में सिर दर्द का कारण एवं इलाज
Next articleप्रेगनेंसी में कमर दर्द का घरेलू उपाय एवं कारण

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here